Web Browser kya- Types of Browser in Hindi ब्राउज़र क्या होते है

Web Browser kya- Types of Browser in Hindi ब्राउज़र क्या होते है
4.3 (86.67%) 3 votes

अगर आप नए नए मोबाइल का इस्तेमाल करना शुरू किया है तो आपके बहुत सारे सवाल होंगे जैसी Web Browser kya होता है ,Browser in Hindi और भी बहुत सारे सवाल जो Browser के साथ जुड़े हुवे होंगे इसलिए आपके सभी सवालो के जवाब देकर आपका ज्ञान और बड़ा दूंगा। आज इस आर्टिकल में हम आपको Web Browser kya in Hindi में बातयेंगे और आपको Types of Browser in Hindi भी बताऊंगा।

Browser in Hindi

Web Browser kya –  वेब ब्राउज़र क्या होते है

 

Web Browser को अगर देसी भाषा में समझे तो ये एक तरह से डाकिये की तरह काम करता है जैसी डाकिया हमारे लिए खत या पत्र लेके आता है उसी तरह वेब ब्राउजर आपके मोबाइल पर वेबसाइट का डाटा लेकर आता है। जैसे अगर आप अपने वेब ब्राउजर पर google.com खोलते है तो वेब ब्राउजर google.com के सर्वर के पास जाकर उसका डाटा लेकर आपके मोबाइल पर दिखाता है। ये सब कुछ बहुत जल्दी होता है।

 

What is Browser In Hindi – ब्राउज़र इन हिंदी ?

web browser एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होता है जो WWW यानि वर्ल्ड वाइड वेब से जानकारी लाकर यूजर के मोबाइल पर देता है। जानकारी में text फाइल ,फोटो ,वीडियो तरह की जानकारी वेब ब्राउज़र के द्वारा लायी जाती है और जानकारी लाने के लिए web browser एक रूल को फॉलो करता है जिसका नाम HTTP है उसका मतलब हाइपर टेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल होता है web browser सर्च इंजन से बिलकुल अलग होता अगर आप गूगल को web browser समझ रहे है तो आपको ये समझना होगा की ये दोनों चीज़ अलग अलग है।

Web Browser History – वेब ब्राउज़र का इतिहास

वेब ब्राउज़र की शुरू टिम बर्नर ली ने 1993 में उसका नाम डब्ल्यु.डब्ल्यु.डब्ल्यु रखा गया लेकिन बाद में Mosaic वेब ब्राउज़र पहला ग्राफ़िक वाला ब्राउज़र था जो बहुत पॉपुलर हो गया जिसको Marc Andreessen की टीम ने बनाया था और बाद में चलके Marc Andreessen ने एक नयी कंपनी बनायीं जिसका नाम Netscape और Netscape ने ही सबसे पहले ब्राउज़र आम जनता के लिए निकला जिसका नाम Netscape Navigator रखा गया।

उसके बाद Microsoft ने अपना पहला ब्राउज़र 1995 में Internet Explorer के नाम से बनाया। इसके बाद लोगो ने Internet Explorer का इस्तेमाल बहुत तेज़ी से करने लग गए क्योकि एक तो ये विंडो के साथ फ्री में आता था दूसरा इसके इस्तेमाल करने के लिए कोई रोक नहीं थी। इस तरह 2002 तक आते आते Internet Explorer को 95% लोगो ने यूज़ करना शुरू कर दिया

इसके बाद Netscape को Mozilla Foundation ने एक Mozilla ब्राउज़र निकला जो जिसने देखते ही देखते मार्किट में 28% की हिसेदारी बना ली।

उसके बाद एप्पल ने भी अपना browser निकला जिसका नाम Safari रखा।

इसके बाद गूगल भी पीछे नहीं रहा और अपना Browser निकला जिसका नाम Chrome browser रखा जिसने देखते ही देखते हर किसी के कंप्यूटर में इनस्टॉल हो गया और लोगो ने इसको बहुत पसंद किया।

Also Read:

Types of Browser in Hindi – कितने तरह के ब्राउज़र मार्किट में है

बाजार में बहुत तरह के वेब ब्राउज़र है जो अलग अलग तरह से लोगो को अपनी और अकर्षित करते है ज्यादा तर सभी ब्राउज़र में प्राइवेसी, सेक्‍युरिटी, इंटरफ़ेस, शॉर्टकट्स तरह के फीचर होते है। वेब ब्राउज़र का असली काम इंटरनेट की वेबसाइट को दिखाना है और वेबसाइट में हर तरह के डाटा होता है

सबसे ज्यादा लोकप्रिय वेब ब्राउज़र निचे दिए गए है

  • Google Chrome

गूगल क्रोम एक वेब ब्राउज़र है जिसे गूगल ने बनाया है। ये ग्राफिकल यूज़र इंटरफ़ेस का इस्तेमाल करता है । अब तक सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाला ब्राउज़र है। अगर आपको Google Chrome डाउनलोड करना है तो यहाँ से करे।

  • Mozilla Firefox

मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स मोज़िला निगम ने बनाया है जो , विंडोज, OS X, लिनक्स और एंड्रॉयड के लिए भी है।

  • Internet Explorer

विण्डोज़ इण्टरनेट ऍक्सप्लोरर भी एक ग्राफ़िकल वेब ब्राउज़रों की से एक है, जिसको माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने बनाया है।

  • Opera

ऑपेरा मिनी भी एक मुफ्त वेब ब्राउजर है। यह काफी हल्का-फुल्का एवं छोटे आकार का बेहतरीन ब्राउजर है।जिसको आप मोबाइल फोन पर हिन्दी साइटें एवं चिट्ठे पढ़ने के लिए इस्तेमाल कर सकते है।

  • Epic
  • Maxthon Web Browser
  • Torch
  • Android Browser
  • Citrio Browser
  • Nintendo 3DS Internet Browser
  • UC Browser

यूसी ब्राउजर एक वेब ब्राउजर है जिसको चीन में बनाया गया है इसको 2004 में लांच किया गया था और ज्यादा सिर्फ मोबाइल में इस्तेमाल किया जाता है। और अब एंड्राइड विंडोज़ आईओएस ब्लैकबेरी पर इस्तेमाल कर सकते है और 2010 में एप्पल के लिए भी lanuch किया।

  • Comodo Dragon
  • Deepnet
  • Avant Browser
  • Tor

टोर एक अलग तरह का ब्राउज़र है जिसको ज्यादा तर हैकर इस्तेमाल करते है और ये आपकी पहचान छुपाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है इससे लोग किसी वेबसाइट को एक्सेस करके अपनी IP को छुपा देते है ये किसी नार्मल यूजर के लिए नहीं होता है इसलिए आप इसका इस्तेमाल ना ही करे तो अच्छा है।

 

Also Read:

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.