Mukesh Ambani Story in Hindi – मुकेश अंबानी कैसे बने सबसे अमीर व्यक्ति

1 MIN READ 2 Comments

Mukesh Ambani Story in Hindi अगर आप ये जानना चाहते है तो आप सही वेबसाइट पर आये है।Mukesh Ambani जो देश में बच्चे से लेकर बूढ़ा हर कोई जनता है और उनके किये गए काम को याद करते है जैसे फ्री JIO की सिम पुरे देश में दे रहे थे और लोगो ने इंटरनेट ,कॉल और sms फ्री में दे रहे थे। इसके साथ साथ आप सभी जानते होंगे की वो दुनिया की सबसे महंगी जगह एंटिल्ला में रहते है। ऐसे बहुत सी बातें है जो Mukesh Ambani को सबसे अलग बनाती है। तो आज इस आर्टिकल में हम आपको Mukesh Ambani Story in Hindi में बातयेंगे और आपको Mukesh Ambani की कहानी हिंदी में बता रहे है।

 

Mukesh Ambani Story in Hindi

Mukesh Ambani Story in Hindi

सबसे पहले हम आपको बता रहे है की Mukesh Ambani का जन्म 19 अप्रैल, 1957 में यमन स्थित अदेन शहर में हुवा था जो की एक समुन्दर के किनारे वाला शहर है यमन की अदेन राजदानी है।Mukesh Ambani के पापा का नाम धीरुभाई अम्बानी और माता का नाम कोकिलाबेन अम्बानी है।

1958 में Mukesh का परिवार यमन छोड़ कर इंडिया शिफ्ट हो गए जहा पर उनके पिता ने मसालों का बिज़नेस शुरू किया लेकिन फिर बाद में कपड़े का काम करने लगे जिसका नाम पहले vimal रखा गया और बाद में only vimal कर दिया गया।

Mukesh Ambani ने अपनी शुरू की पढ़ाई पडर रोड में हिल ग्रान्ज हाई स्कूल से की उसके बाद इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी, माटुंगा से केमिकल इंजीनियरिंग की डिग्री ली। Mukesh Ambani ने MBA के लिए स्तान्फोर्ड विश्वविद्यालय usa में दाखिला लिया लेकिन 1 साल बाद पढ़ाई छोड़ कर अपने पिता का हाथ बटाने में लग गए।

1970 में mukesh ambani अपने परिवार के साथ Bhuleshwar, Mumbai 2 बैडरूम वाले अपर्टमेंट में रहते थे यमन से आने के बाद mukesh ambani बहुत सिंपल तरीके से रहते थे और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में आना जाना करते थे। लेकिन थोड़े टाइम के बाद उनके पिता Dhirubhai ने Colaba में 14-floor apartment खरीद लिया था।

Mukesh Ambani का मानना है की उनके सबसे अच्छे प्रोफेसर William F. Sharpe और Man Mohan Sharma ने उन्हें कुछ नया करने के लिए बहुत सिखाया है। उनके पिता धीरूभाई का मानना था की असली अनुभव रियल लाइफ से आता ना की स्कूल या कॉलेज के क्लास रूम में बैठ कर।

 

मुकेश अंबानी ने 1 9 81 में रिलायंस का काम अपने कंधो पर लिया और पुराने पड़े टेक्सटाइल के काम को पॉलिएस्टर फाइबर से नयी उचाईयो पर पंहुचा दिया। बात उन दिनों की है जब भारत सरकार ने polyester filament yarn के लिए प्राइवेट कंपनी को लइसेंस का दरवाज़ा खोल दिया तब रिलायंस ने अपने से बड़े कॉम्पिटिटर
के बिच में इस लइसेंस को लेकर अलग पहचान बनायीं।

मुकेश अंबानी ने 10 लाख टन प्रति वर्ष से बढ़ा कर 1 करोड़ 20 लाख टन प्रति वर्ष कर दिया।

उसके बाद जामनगर गुजरात में निया की सबसे बड़ी पेट्रोलियम रिफायनरी की स्थापना की अभी इसकी समता 660,000 बैरल प्रति दिन है यानी 3 करोड़ 30 लाख टन प्रति वर्ष। इसको बनाने के लिए लगभग 26 बिलियन अमरीकी डॉलर खर्च किये गए।

Mukesh Ambani ने भारत में सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनियों के रूप में JIo से पहचान बनायीं है वो ही अकेले आदमी है जिसने 6 महीने तक इंटरनेट ,कॉल sms फ्री में दिया।इंडिया में इंटरनेट को घर घर तक पहुचाने के क्रेडिट जाता है। अगर Mukesh अपने भाई अनिल से अलग नहीं हुवे होते तो आज उनकी कुल संपती इतनी होती की वो दुनिया में सबसे ज्यादा अमीर होते लेकिन फिर भी Mukesh Ambani इंडिया में सबसे अमीर आदमी है।

Mukesh Ambani ने रिटेल चैन के साथ क्रिकेट की एक टीम भी खरीद रखी है जिसका नाम Mumbai Indians है और धीरू भाई अम्बानी इन्टरनेशनल स्कूल की स्थापना भी की है।

Mukesh Ambani personal life  / मुकेश अंबानी निजी जिंदगी

mukesh ambani देश के साथ साथ दुनिया में भी जाने जाते है वो हर तरह की काम करती है जैसी दूरसंचार, बिजली, प्राकृतिक संसाधनों, बुनियादी सुविधाओं और वित्तीय सेवाओं। अपने पिता की मौत के बाद दोनों भाइयो ने अलग होने का फैसला ले लिया और दोनों ने रिलायंस समूह दो भागों में बाँट लिया।

mukesh की पत्नी का नाम नीता अम्बानी है जो रिलायंस इंडस्ट्रीज में सामाजिक एवं धर्मार्थ के काम करती रहती है उनके बच्चो को नाम आकाश, ईशा और अनंत है।
उनके घर का नाम एंटीलिया है जो की 27 मंजिली ईमारत है ये दुनिया महंगी ईमारत है इसमें 600 नौकर काम करते है।

मुकेश अम्बानी को दिए गए पुरस्कार।

  • मुकेश अम्बानी को NDTV ने साल 2007 में ‘बिज़नसमैंन ऑफ़ द ईयर चुना गया।
  • USIBC ने वाशिंगटन में मुकेश अम्बानी को 2007 में “ग्लोबल विज़न” लीडरशिप अवार्ड दिया
  • अक्टूबर 2004 में टोटल टेलिकॉम ने दूरसंचार के क्षेत्र में सबसे प्रभावशाली व्यक्ति के तौर पर मुकेश अम्बानी को वर्ल्ड कम्युनिकेशन अवार्ड दिया
  • वौइस् एंड डाटा पत्रिका ने सितम्बर 2004 में उन्हें ‘टेलिकॉम मैंन ऑफ़ द ईयर’ चुना
  • फोर्च्यून पत्रिका के अगस्त 2004 अंक में सबसे शक्तिशाली कारोबारियों की एशिया पॉवर 25 सूचि में मुकेश को 13वां स्थान मिला
  • मई 2004 में एशिया सोसाइटी, वॉशिंगटन डी सी द्वारा उन्हें एशिया सोसाइटी लीडरशिप अवार्ड प्रदान किया गया
  • इंडिया टुडे के मार्च मई 2004 अंक में द पॉवर लिस्ट मई 2004 में मुकेश अम्बानी ने लगातार दूसरे साल पहला स्थान हासिल किया
  • सन 2007 में चित्रलेखा पर्सन ऑफ़ द ईयर -2007 पुरस्कार से सम्मानित किया गया

 

आपको बता दे की मुकेश अंबानी की बेटी ईशा की शादी भी तय हो गयी है और 2018 दिसंबर में उसकी शादी होगी ईशा की शादी बिजनेसमैन अजय पीरामल के बेटे आनंद पीरामल से होगी मार्किट में लोगो ने अफवा फैला रखी है की बेटी ईशा की शादी में 500 करोड़ खर्च किये है लेकिन ऐसा कुछ नहीं है।

कई लोग गूगल पर मुकेश अंबानी का फ़ोन नंबर या ईमेल id ढूंढ़ते है लेकिन में आपको बता देना कहूंगा की ऐसा करके अपना टाइम ख़राब ना करे क्योकि ऐसा करने से आपको कोई जानकारी मिलेगी इससे अच्छा आप उनकी कंपनी में अप्लाई करे तो शायद आप कभी उनसे मिल पाए।

Written by

Romi Sharma

I love to write on joblooYou can Download Ganesha, Sai Baba, Lord Shiva & Other Indian God Images

2 thoughts on “Mukesh Ambani Story in Hindi – मुकेश अंबानी कैसे बने सबसे अमीर व्यक्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.