Hindi Muhavare With Meanings and Sentences 1000+ ( हिंदी मुहावरे और अर्थ )

4 MINS READ 125 Comments

नमस्कार, आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है। दोस्तों आज मैं आपको इस आर्टिकल में बताऊंगा  आज हम जानेंगे बहुत से Hindi Muhavare (हिन्दी मुहावरे). हमने इस article में आपके लिए  बहुत  से मुहावरों (Muhavaron) को इकट्ठा किया है. इन मुहावरों को अंग्रेजी में Proverbs भी कहा जाता है|सबसे पहले जान लेते है कि मुहावरे क्या होते है ? विशेष अर्थ को प्रकट करने वाले वाक्यांश को मुहावरा कहते है। मुहावरा पूर्ण वाक्य नहीं होता, इसीलिए इसका स्वतंत्र रूप से प्रयोग नहीं किया जा सकता । मुहावरा का प्रयोग करना और ठीक -ठीक अर्थ समझना बड़ा ही  कठिन है ,यह अभ्यास से ही सीखा जा सकता है । इसीलिए इसका नाम मुहावरा पड़ गया । 

इससे पहले की मैं इस List को शुरू करूँ, मैं आपको बताना चाहूँगा कि बहुत से लोगों को मुहावरे और लोकोक्तियाँ में बहुत confusion होती है| चलिए पहले वह confusion जल्दी से दूर कर लेते हैं. English में मुहावरे Proverbs के नाम से जाने जाते हैं बल्कि लोकोक्तियाँ Idioms के नाम से | हमने इस article में मुहावरों और लोकोक्तियों मिलाकर ही लिखा है क्योंकि आजकल इनके मिलते जुलते प्रयोग के कारण इन्हें एक जैसा ही समझा जाता है |

यहाँ पर मैं कुछ प्रसिद्ध मुहावरे और उनके अर्थ वाक्य में प्रयोग सहित बता रहा हूँ।

ALSO READ: मुहावरे फोटो के साथ भाग 2

अगर आपको किसी भी मुहावरे या लोकोक्तियों का मतलब या वाकय चाहिए तो कमेंट करे या हमें मेल करे

मुहावरा -हद कर दी।
अर्थ-
(1) सीमा से आगे बढ़ जाना ।
(2) असम्भव कार्य को कर देना।
मुहावरा – हवा में गाँठ लगाना।
अर्थ-
(1) बड़ेबड़े दावे करना ।
(2) असम्भव कार्य को करने का दम भरना।
मुहावरा -हराम का माल
अर्थ-
(1) दूसरे की सम्पत्ति हड़प लेना ।
(2) बिना करे माल मिल जाना।

मुहावरा – हल्दी लगे न फिटकरी रंग चौखा।
अर्थ-
(1) बिना लागत के बढ़िया कमाई होना ।
(2) बिना खर्च किये ही धन्धा जम जाना।

मुहावरा – हाथ को हाथ सुझाई न देना
अर्थ-
(1) बहुत ज्यादा अँधेरा होना।
(2) कुछ भी समझ में न आना।

मुहावरा – हम प्याला हम निवाला।
अर्थ-
(1) अत्याधिक घनिष्ठ होना।
(2) एक-दूसरे का राजदार होना।

मुहावरा -टूर की परी
अर्थ’
(1) अत्याधिक सुन्दर होना ।
(2) किसी के रंग-रूप को चिढ़ाना।

मुहावरा – हाथ-खड़े कर देना।
अर्थ-
(1) असमर्थता जता देना।
(2) वक्त पर मदद से इन्कार कर देना।

मुहावरा -हेराफेरी करना।
अर्थ-
(1) चालाकी करना ।
(2) इधर-उधर हाथ साफ करना।

मुहावरा – हाथ में कटोरा आना।
अर्थ-
(1) व्यापार समाप्त हो जाना।
(2) भारी हानि हो जाना।

 

मुहावरा – घी के दिये जलाना।

अर्थ –
(1) खुशियाँ मनाना।
(2) बहुत ज्यादा खुश होना।
(3) प्रसन्नता जाहिर करना।
(4) दूसरे के नुकसान पर खुश होना।

प्रयोग – पड़ौसी व्यापारी को नुकसान होने पर प्रतिद्वन्दी दिये जल उठे।

मुहावरा – घाव पर नमक छिड़कना।
अर्थ –
(1) दुःखी को ज्यादा दुःखी करना।
(2) परेशान व्यक्ति की परेशानी और बढ़ाना।
(3) मजबूर को और मजबूर करना।
(4) काम खराब होने पर हंसी उड़ाना।

प्रयोग – वरूण को जब व्यापार में भारी घाटा हो गया तो तरूण ने उसका मजाक उड़ाकर उसके घाव पर नमक छिड़कने का काम किया

मुहावरा – घोड़े बेचकर सोना।
अर्थ –
(I) बिल्कुल निश्चित हो जाना।
(2) किसी तरह की चिन्ता न करना।
(3) हर जिम्मेदारी से मुक्त हो जाना।
(4) सफलतापूर्वक कार्य पूर्ण हो ।

प्रयोग – ऊपर वाले के आशीर्वाद से तुम्हारा काम सही चल रहा है । तुम आराम से घोड़े बेचकर सोओ।

मुहावरा – चार चाँद लगाना।

अर्थ –
(1) किसी चीज को सुन्दर बनाना।
(2) किसी के काम की अच्छी तारीफ करना ।
(3) किसी कार्यक्रम की रोनक बढ़ाना।
(4) किसी को ज्यादा मानसम्मान देना।

प्रयोग – लोकप्रिय तथा सभ्य व्यक्ति जिस कार्यक्रम में पहुँच जाते हैं वहाँ चार चाँद लग जाते हैं।

मुहावरा – चोर की दाढ़ी में तिनका।

अर्थ –
(I) गलत व्यक्ति का व्यवहार उसकी असलियत जाहिर कर देता। ।
(2) पेट में पाप रखने वाला नजरें नहीं मिला सकता।
(3) अपराध बोध से व्यक्ति सहमा-सहमा रहता है।
(4) चोर ऐसी गलती जरूर करता है जिससे उसका भेद खुल जाता है।

मुहावरा – चिकना पड़ा।

अर्थ –
(1) बेशर्म होना।
(2) किसी की लिहाज न करना।
(3) किसी बात का प्रभाव न पड़ना।
(4) अपमान होने पर भी अपमानित महसूस न करना।

मुहावरा – चोली-दामन का साथ।

अर्थ –
(1) अत्याधिक घनिष्ठता होना।
(2) बहुत ज्यादा मधुर सम्बन्ध होना।
(3) बहुत ज्यादा गहरी मित्रता होना।
(4) हर काम में साथ रहना।
प्रयोग – दिनेश-महेश ने चोली-दामन का साथ निबाहते हुए छोटा-सा काम शुरू करके इतनी प्रगति की कि आज वे जानेमाने व्यवसायी हैं।

मुहावरा – चुल्लू भर पानी में डूबना।
अर्थ –
(1) अपमानित होना।
(2) जलील होना।
(3) बेइज्जत होना।
(4) लज्जित होना।

प्रयोग – उसका छोटा भाई प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुआ तथा वह अनुत्तीर्ण ।
यह उसके लिए चुल्लू भर पानी में डूब मरने की बात थी।

Also Read:

मुहावरा – चिराग तले अन्धेरा।

अर्थ –
(I) सबका काम कराने वाले का स्वयं का काम लटका रहना।
(2) सुविधा प्रदान करने वाले को स्वयं सुविधा न मिलना।
(3) देने वाले का स्वयं वंचित रहना।
(4) सबको खुश रखने वाले का स्वयं दुःखी रहना।

प्रयोग – अच्छा पढाने वाले अध्यापक के बेटे का बार-बार फेल हो जाना, इसे कहते हैं चिराग तले अन्धेरा।

मुहावरा – छक्के छुड़ाना।

अर्थ –
(1) खेल में भारी अन्तर से हराना।
(2) अपने से तगड़े पर विजय प्राप्त करना।

 

इधर कुआ उधर खाई।

अर्थ

(1) हर तरफ परेशानी होना।
(2) हर तरफ नुकसान का रास्ता होना।

 इन्सान की शक्ल में शैतान।
अर्थ-

(1) ऊपर से भला प्रतीत होना अन्दर मैला रखना।
(2) दोस्ती का दम भरके धोखा देना।

इलाज से बचाव अच्छा।
अर्थ-

(1) उपचार करना पड़े इससे पहले ही बचाव करना बेहतर रहता है।
(2) किसी संकट में घिरने से पूर्व ही उससे बचने का प्रबन्ध करना।

 इस हाथ दे उस हाथ ले।

अर्थ

(1) अपना कार्य तुरन्त पूर्ण करो।
(2) लेनदेन साथसाथ करना अच्छा।

 इज्जत खाक में मिला देना।
अर्थ-

(1) अपराधिक कार्यों से परिवारिक प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचना।
(2) ऐसा कार्य करना जिससे सभी को अपमानित होना पड़े।

 इधर-उधर की लगाना।
अर्ध-

(1) झूठी बातें करना।
(2) चुगलखोर होना।

 इतमीनान की सांस लेना।
अर्थ

(1) कार्य पूर्ण होने पर शान्ति महसूस करना।
(2) काम निपटाकर निश्चिन्त हो जाना।

 इज्जत पर आंच आना।
अर्थ-

(1) अपमानित होने की स्थिति उत्पन्न हो जाना।
(2) प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचने के हालात पैदा हो । जाना

इज्जत मिट्टी में मिलाना।

अर्थ

(1) बेइज्जती करा देना।
(2) गलत कार्यों में फंस जाना।

इतना सा मुंह रह जाना।

अर्थ

(1) बहुत छोटा महसूस करना।
(2) अपने कर्मों से सिर झुक जाना।

 

ईंट का जवाब पत्थर से देना।
अर्थ-
(1) दूसरे पर भारी पड़ना।
(2) बत्तमीजी करने पर करारा जवाब देना।

ईंट से ईंट बजाना।
अर्थ-
(1) भारी नुकसान कर देना।
(2) धन्धा ठप्प करा देना।

ईमान बिगड़ना।
अर्थ-
(1) बेईमान हो जाना।
(2) धोखा करना।

ईमान डिगना।
अर्थ-
(1) नियम खराब हो जाना।
(2) बेईमानी करने की सोचना।

उल्टा चोर कोतवाल को डांटे।
अर्थ-
(1) गलती करने के बाद भी समझाने वाले को धमकाये।
(2) दोषी स्वयं होने पर भी दूसरे पर हावी होना।

उल्लू समझना।
अर्थ-
(1) मूर्ख समझना।
(2) दूसरे को अज्ञानी मानना।
उपदेश देने से स्वयं करना भला।
अर्थ-
(1) दूसरों को शिक्षा देने से अच्छा है कि पहले उस पर स्वयं अमल करे।
(2) किसी को उपदेश देने से पहले उन्हें अपने जीवन में उतारें।

उसकी अक्ल चरने गयी थी।
अर्थ-
(1) वह उस समय सही निर्णय नहीं ले पाया।
(2) अच्छा-बुरा सोचने की क्षमता खो बैठना।

उड़द पर सफेदी बराबर भी शर्म नहीं।
अर्थ-
(1) बेशर्म होना।
(2) बेहया होना।

उतावला सो बावला।
अर्थ-

(1) किसी कार्य में तेजी बरतना पागलपन के समान है।
(2) जल्दीबाजी में नुकसान होता है।
उल्टे बांस बरेली को।
अर्थ-

(1) उल्टा काम करना।
(2) सही राह पर न जाना।
उधार स्नेह की कैंची है।
अर्थ-

(1) उधार परम मित्रों में भी दूरी उत्पन्न कर देता है।
(2) उधार ऐसी कैंची है जो प्यार से नुकसान पहुँचाती है।

उंगली पकड़कर पहुँचा (कलाई) पकड़ना।
अर्थ-

(1) थोड़ा मांगकर सारे की चाह रखना।
(2) जरा सी मदद मिलने पर उसी पर आश्रित होने की इच्छा रखना।।
उन्नीस-बीस होना।
अर्थ-

(1) ऊँच-नीच हो जाना।
(2) थोड़ा-बहुत फर्क होना।

 उन्नीस होना।
अर्थ- (1) कमजोर होना।
(2) समानता न होना।।

ऊँची दुकान फीका पकवान।
अर्थ-
(1) नाम के अनुरूप न होना।
(2) ज्यादा दिखावा करना।
ऊँट के मुँह में जीरा।
अर्थ-
(1) आवश्यकता से बहुत कम होना।
(2) किसी तरह से भी पूर्ति करना सम्भव न हो।

ऊँट किस करवट बैठता है।
अर्थ-
(1) परिणाम से अनभिज्ञ होना।
(2) अच्छा होगा या बुरा इसका पता न होना।
ऊँचे इरादे होना।
अर्थ-
(1) हौंसले बुलन्द होना।
(2) कुछ कर दिखाने का साहस करना।

 

आप सबके लिए लाये है नए हिंदी मुहावरे और उनके अर्थ

 

मुहावरे: जल में रहकर मगरमच्छ से बैर।
अर्थ-
(1) पास में रहकर खतरनाक व्यक्ति से दुश्मनी रखना।
(2) पासपड़ौस में उचित व्यवहार न रखना।

मुहावरे: जब तक सांस, तब तक आस

अर्थ-
(1) आखिरी समय तक आशा न छोड़ना।
(2) अन्तिम समय तक प्रयासरत रहना।

मुहावरे : जब बाढ़ ही खेत को खाने लगे।
अर्थ
(1) रखवाला ही नुकसान करने लगे।
(2) कारिन्दा ही चोरी करने लगे।

मुहावरे :जलेबी की रखवाली कुतिया।

अर्थ (1) चोर को चौकीदारी सौंपना।
(2) गलत आदमी के हाथों में काम सौंप देना।

Also Read:

 

खाक छानना।
अर्थ
(I) बेकार इधर-उधर भटकते रहना
(2) आवारागर्दी करते रहना
(3) व्यर्थ समय बर्बाद करना
(4) काई काम-धन्धा न करना।
कुछ युवकों का यह शगुल हो गया है कि वे व्यर्थ ही गलियों में खाक छानते फिरते हैं

गड़े मुर्दे उखाड़ना
अर्थ
(1) पुरानी बातों का बखान करना
(2) पुरानी कमियों को उजागर करना
(3) किसी पुरानी कमी को बताना।
(4) पुराने विवादों को उठाना।
प्रयोग – मामूली विवाद होने पर भी कुछ लोग गड़े मुर्दे उखाड़ने लगते हैं।

गुदड़ी के लाल।

अर्थ-
(1) गरीब के घर होनहार पैदा होना।
(2) अति पिछड़ों में प्रतिभा सम्पन्न निकलना।
(3) साधारण घर में तेजस्वी व्यक्ति का पैदा होना।
(4) अशिक्षित परिवार में उच्च शिक्षित हो जाना।
प्रयोग – स्व. लाल बहादुर शास्त्री जैसे गुदड़ी के लालों ने सारे संसार में भारत का मस्तक ऊंचा उठाया

गागर में सागर भरना।

अर्थ-
– (1) कम शब्दों में ज्यादा कहना।
(2) छोटी बात में बहुत कुछ कह जाना।
(3) संक्षेप में ज्यादा लिखना।
(4) बिना बढ़ायेचढ़ाये बड़ी बात कहना।
प्रयोग – महाकवि बिहारी ने अपनी ‘सतसई के दोहों में गागर में सागर भर दिया।

गनीमत हो जाना।
(1) ज्यादा नुकसान न होना।
(2) ज्यादा चोट न लगना।
(3) ज्यादा झगड़ा न बढ़ना।
(4) दुर्घटना में जान बच जाना।

प्रयोग – रेल दुर्घटना में चोट तो लगी परन्तु जान बच गयी, यह गनीमत हो गयी।
गोबर गणेश।
अर्थ –
(1) बहुत ज्यादा सीधा होना।
(2) कुछ भी न जानना।
(3) मूर्ख होना।
(4) हद से ज्यादा शरीफ होना।
प्रयोग – सुदेश को किसी बात को तोते की तरह से कितनी ही बार रटाओ परन्तु वह गोबर गणेश ही साबित होता है।

घर का भेदी लंका ढावे।
अर्थ
-(1) रहस्य को जानने वाला सर्वनाश कर सकता है।
(2) भेद जानने वाला नाश का कारण बन सकता है।
(3) घर की छूट हानिकारक सिद्ध हो सकती है।
(4) हमराज बरबाद कर सकता है।
प्रयोग – विकास ने अपने मालिक के व्यापार के भेद पड़ौसी व्यापारी को बता दियेउसने विकास के मालिक का धन्धा चौपट कर दिया।
इसे कहते हैं घर का भेदी लंका ढावे।

घास न डालना।
(1) ठीक स बात न करना
(2) मतलब न रखना।
(3) ढंग से बात न सुनना।
(4) मुंह फेरकर निकल जाना।
प्रयोग – महेश ने अपना काम निकल जाने पर श्याम को घास डालनी भी बन्द कर दी।

घोड़े पर सवार रहना।
अर्थ
– (1) चैन से न बैठना।
(2) हर काम में जल्दी करना।
(3) एक जगह न रुकना
(4) भागम-भाग रहना।
प्रयोग – सुरेश की आदत में यह शामिल हो चुका है कि वह हर समय घोड़े पर सवार रहता है।

 

मुहावरा – अन्धे की लाठी।

अर्थ

(1) किसी का एक अकेला ही सहारा होना।
(2) किसी का एक मात्र रोजगार होना।
( 3) किसी के मात्र एक पुत्र का होना।
(4) किसी एक से ही मदद की उम्मीद होना।

प्रयोग – श्रवण कुमार अपने अन्धे मातापिता के लिए अन्धे की लाठी था।

मुहावरा – अक्ल पर पत्थर पड़ना।

अर्थ – (1) सोचसमझकर किसी कार्य को न करना।
(2) न चाहते हुए भी गलती कर बैठना।
(3) समय के अनुरूप न चलना।
(4) आवश्यकता के समय बुद्धि से कार्य न ।
करना
प्रयोग – अरूण की अक्ल पर पत्थर पड़ गये थे जो उसने अपने साझीदार
को अलग कर दिया, जिससे उसका व्यापार चौपट हो गया।

मुहावरा – अपना उल्लू सीधा करना।

अर्थ

(1) किसी भी तरह अपना काम निकालना।
(2) धोखे से अपना स्वार्थ सिद्ध करना।
(3) किसी भी तरह अपने उद्देश्य की पूर्ति करना।
(4) ऊंचनीच की परवाह किये बिना अपना कार्य सिद्ध करना।
प्रयोग – लुभावने वायदे करके नेताजनता से अपना उल्लू सीधा करके
चलते बनते हैं।

 

मुहावरा – अगूठा दिखाना।

अर्थ

(1) वक्त पर मुकर जाना।
(2) वादा करके उसे पूरा न करना।
(3) अपमानजनक तरीके से काम करने से इन्कार करना।
(4) आश्वासन देने के बाद सहायता न करना।
प्रयोग – मुनीश हमेशा अनिल के बुरे वक्त में मददगार बना रहा परन्तु जब
मुनीश को मदद की जरूरत पड़ी तो अनिल ने इन्कार करके उसे
अंगूठा दिखा दिया।

मुहावरा – अगिया बेताल होना।

 

 

 

अर्थ

(1) बिना बात गुस्सा होना।
(2) बिना बात आगबबूला हो जाना।
(3) संयम खो बैठना।
(4) व्यर्थ मारपीट पर उतारु हो जाना।
प्रयोग – कुछ लोग अपनी कमियां या गलती सुनकर अगिया बेताल हो उठते हैं।

मुहावरा – अमानत में खयानत।
अर्थ –

(1) किसी का दिया माल वापस न करना।
(2) रखा सामान हड़प लेना।
(3) सुपुर्दगी के माल को हजम करना।
(4) साझे के सामान अथवा धन में हेराफेरी करना।
प्रयोग – अशोक व्यापार के सम्बन्ध में बाहर गया तो अपना व्यवसाय नरेन्द्र
को सौंप गया तो उसने उसके व्यवसाय पर कब्जा जमाकर अमानत
में खयानत कर दी।

मुहावरा – आँखें चार होना।
अर्थ

(1) किसी से नैन लड़ जाना।
(2) किसी से प्रेम हो जाना।
(3) निगाहें मिलना।
(4) किसी से लगाव हो जाना।
अरूण तथा अंजू जिस समय आमनेसामने पड़े तो उनकी आंखें
चार हो गयीं तथा वे विवाह के मे बंध गये।

मुहावरा – अन्धों में काना सरदार। बन्धन
अर्थ –

– (1) मूर्यों में अकलमंदी दिखाने वाला।
(2) मूर्स को सलाह देना वाला।

 

महावरा – अन्धे के हाथ बटेर लगना।

अर्थ –
(1) बैठेबिठाये किसी काम का बन जाना।
(2) भाग्य से किसी काय का पूर्ण हो जाना।
(3) कुरुप व्यक्ति को सुन्दर पत्नी का मिल जाना।
(4) बिना मेहनत के ही धन प्राप्त हो जाना।
गयीश – विकास हमेशा ठलुआ घूमता था, अचानक उसकी लाटरी निकल
आयी परन्तु हमेशा अन्धे के हाथ बटेर नहीं लगती।

मुहावरा – अपने मुंह मियां-मिट्लू बनना।

अर्थ –

(1) अपने मामूली प्रयास का बड़ा बखान करना ।
(2) स्वयं को आवश्यकता से ज्यादा योग्य बताना।
(3) अपनी प्रशसा स्वयं करना ।
(4) अपने आपको औरों से बड़ा प्रदर्शित करना।
प्रयोग – नाकारा विनोद इतना बड़बोला है कि वह अपने मुंह मियां मिल
बनता रहता है जबकि सभी उसकी असलियत को जानते हैं।

मुहावरा – अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारना।

अर्थ –

(1) जानते हुए भी अपना काम खराब कर लेना।
(2) अपने ही काम में रुकावट पैदा कर लेना।
(3) जान-बूझकर अपनी प्रगति के रास्ते में अवरोध खड़ा कर लेना।
(4) अपने शुभचिन्तक से सम्बन्ध खराब कर लेना।
प्रयोग – अपने अच्छे चलते व्यवसाय के साथ दूसरा व्यवसायजिसका
अनुभव भी नहीं था में पैसा लगाकर अरूण ने अपने पैरों पर आप
कुल्हाड़ी मार ली। उसके दोनों व्यवसाय चौपट हो गये।

मुहावरा – अक्ल के पीछे लट्ठ लिए फिरना।

अर्थ

(1) मूर्खता भरे काम करना।
(2) बुद्धिहीनता का परिचय देना।
(3) अपने आगे किसी दूसरे की न चलने देना।
(4) झंझटों को अपने ले ।
दूसरों के ऊपर लेना
प्रयोग – विकास अक्ल के पीछे लट्ठ लिए फिरता है। पड़ौसी के झगड़े में
अपने आपको फसा लिया।

मुहावरा – अन्धा क्या चाहे, दो आँखअर्थ –

(1) किसी का कार्य पूर्ण हो जाना ।
(2) किसी की इच्छा पूर्ति हो जाना ।।
(3) बिगड़ा काम बन जाना।
(4) किसी विवाद का निपटारा हो जाना । ।

 

Also Read:

 

 

प्रयोग – कुछ लोगों की यह आदत होती है कि वे किसी के झगड़े को इधर
उधर की बातें करके, आग में घी डालने का काम करते हुए, बढ़ा
देते हैं।

महावरा – आस्तीन का साँप।

अर्थ ‘ –
– (1) मित्र का विश्वासघाती होना।
(2) दगा करने वाला।
(3) शुभचिन्तक बनकर धोखा देना।
(4) विश्वास तोड़ने वाला।
प्रयोग – अशोक ने अपने मालिक के व्यवसाय के सारे राज किसी दूसरे
व्यवसायी को बताकर यह साबित कर दिया कि वह आस्तीन का
साप था।

मुहावरा- आसमान सिर पर उठाना।

अर्थ ‘ –

(1) बिना बात हंगामा करना ।
(2) मामूली बात पर होहल्ला करना।
(3) किसी बात पर चींखनाचिल्लाना।
(4) जरासी बात पर शोरशराबा करना।
प्रयोग – कुछ लोग मामूली बात को तूल देकर आसमान सिर पर उठा लेते

मुहावरा – आकाश-पाताल का अन्तर।
अर्थ – (1) एक का अत्याधिक धनवान तथा दूसरे का अत्याधिक
गरीब होना।
(2) किसी का कम पढ़ालिखा होना तथा किसी का ज्यादा पढ़ा
लिखा होना।
(3) किसी चीज में बहुत ज्यादा अन्तर होना।
(4) ज्ञान में भारी फर्क होना।
प्रयोग भारत को आजादी प्राप्त होने के समय की तथा वर्तमान समय
– की प्रगति में आकाश-पाताल का अन्तर है।

मुहाव- आकाश से बातें करना।
अर्ध

(1) बहुत बड़ीबड़ी बातें करना।
(2) अत्याधिक प्रगति करना।
(3) बहुत ज्यादा बड़ा हो जाना।
(4) किसी का बड़बोला होना।
प्रयोग – अरुण ने थोड़े समय में ही इतनी प्रगति की है कि वह आकाश
से बातें करता प्रतीत होता है।

 

मुहावरा – आनन-फानन में ।
अर्थ –

(1) तुरन्त किसी कार्य को करना।
(2) किसी काम में समय नहीं गंवाना
(3) तत्वरित गति से काम करना।
(4) किसी कार्य को तुरन्त निपटाना।

srk के दर्घटना में घायल होने पर किसी राहगीर ने उसे आनन
फानन में अस्पताल पहुँचा दिया जिससे उसकी जान बच गयी।

मुहावरा – आगे नाथ न पीछे
अर्थ –

(1) आगेपीछे कोई न होना ।
(2) किसी तरह की जिम्मेदारी न होना।
(3) अकेले दम होना।
(4) कोई कहनेसुनने वाला न होना।
प्रयोग – रमेश को ज्यादा मेहनत करने की क्या जरूरत है? उसके आगे नाथ
न पीछे पघा।

मुहावरा – आ बैल मुझे मार।
अर्थ –

(1) बिना मतलब दूसरों के मामलों में पड़ना ।
(2) किसी के विवाद में स्वयं फंसना।
(3) बिना बात का पंगा लेना।
(4) दूसरों के मामलों में टांग अड़ाकर नुकसान उठाना ।
प्रयोग – विशाल दूसरों के मामलों में पड़कर और नुकसान उठाकर यह साबित
करता है कि आ बैल मुझे मार।

मुहावरा – आंखों का तारा।
अर्थ –

(1) बहुत ज्यादा लाडला होना।
(2) बहुत प्रिय होना।
(3) किसी से अत्याधिक लगाव होना।
(4) बहुत ज्यादा विश्वासपात्र होना।
प्रयोग – भगवान् श्रीराम प्रजा की आँखों के तारे थे ।

Also Read:

मुहावरा – आँखों में धूल झोंकना।

अर्थ –

(1) धोखा दे जाना।
(2) धोखे से काम निकालना।
(3) धोखे से कोई चीज हड़प लेना।
(4) मूर्ख बनाकर ठग लेना।
प्रयोग – कई साधु वेशधारी लोग महिलाओं को सोना दोगुना करने का है।
उनकी आंखों में धल झोंककर माल हड़पकर रफू चक्कर 3′ बना

 

मुहावरा – आंखों पर पर्दा पड़ना।

अर्थ –

(1) किसी के झांसे में आ जाना।
(2) विश्वास करके नुकसान उठा लेना।
(3) लालच में फंसकर नुकसान कर लेना।
(4) जानबूझकर गलत काम कर बैठना।
प्रयोग – ऊँचे व्याज के लालच में फंसकर लोगों की आँखों पर ऐसा पर्दा
पड़ा कि वे अपनी जीवनभर की कमाई डूबो बैठे।

मुहावरा – आंखों का कांटा होना ।

अर्थ –

(1) किसी से जलन होना ।
(2) किसी को पसन्द न करना।
(3) किसी से दुश्मनी मानना।
(4) किसी से चिढ़न होना।
प्रयोग – भ्रष्ट अफसरों का भण्डाफोड़ करने से दिनेश उनकी आँखों का
काटा बन गया।

मुहावरा – आँखों के आगे अंधेरा छाना।

अर्थ –

(1) भविष्य बर्बाद होता दिखाई देना ।
(2) भविष्य के प्रति कुछ सुझाई न देना।
(3) सब कुछ सूनासूना नजर आना।
(4) सब कुछ खत्म होता प्रतीत होना।
प्रयोग – महात्मा गाँधी की हत्या के बाद लोगों की आँखों के आगे अँधेरा
छा गया था।

मुहावरा – आंख दिखाना।

अर्थ

(1) निगाहें फेर लेना।
(2) भयभीत करना ।
(3) धमकी देना।
(4) डराना।
प्रयोग – सुरेश ने महेश से जब अपने रुपये लौटाने को कहा तो उसने आंखें
दिखानी शुरू कर दीं।

मुहावरा – आंखों में सुअर का बाल होना।

अर्थ

(J) किसी का लिहाज न करना।
(2) अत्याधिक स्वार्थी होना।
(3) किसी की शर्म न करना।
(4) अहसान न मानना।
प्रयोग – रमेश के विषय में यह सभी जानते हैं कि उसकी आंखों में सुअर का बाल है

 

मुद्दावरा – आंखें फटी रह जाना।

अर्थ –

(I) आश्चर्यचकित रह जाना।
(2) एकदम विश्वास न आना।
(3) अचम्भित रह जाना।
(4) अवाक् रह जाना।
प्रयोग – विशाल को पढ़ाई से मुंह चुराने वाला समझा जाता था परन्तु जब
उसको हाईस्कूल में उच्चतम स्थान प्राप्त किया तो सभी की आंखें
फटी रह गयीं।

मुहावरा – आंखों पर चलें चढ़ना।

अर्थ – (1) किसी की शर्म न करना।
(2) अपनों का लिहाज न करना।
(3) घमंडी हो जाना।
(4) अपनेपराये का फक न करना।
प्रयोग – कामयाबी की तरफ जरा-सा कदम बढ़ते ही अरुण की आंखों पर
चर्वी चढ़ गयी।

मुद्दावरा – आंखों में खटकना।

अर्थ –

(1) किसी से रंजिश रखना ।
(2) किसी का अपने से श्रेष्ठ न होने देना।
(3) किसी से जलना।
(4) किसी के प्रति ईष्र्या रखना।
सुरेश ने उमेश के विवाद में दूसरे पक्ष का साथ दिया, तब से वह
उमेश की आँखों में खटकता है।

मुहावरा – आंख मिचौली करना।

अर्थ –

(1) मुंह चुराना।
(2) छिपना।
(3) रास्ता बदलकर निकल जाना।
(4) सामने न पड़ना।
प्रयोग – राकेश ने जब से अशोक से रुपये उधार लिए हैं तब। तक
आंखमिचौली कर रहा है।

अर्थ –

(1) किसी कार्य को करने का जोश होना ।
(2) मुसीबत में हौंसला रखना।
(3) हारकर फिर जीतने की ललक होना।
(4) हर परिस्थिति से निपटने को तैयार रहना.।
प्रयोग – सीमा पर डटे भारतीय सैनिकों के हमेशा इरादे बुलन्द रहते हैं

 

मुहावरा- इश्क का परवान न चढ़ना।
अर्थ –

(1) प्यार में सफलता न मिलना।
(2) प्रेमियों की राह में रुकावटें आना।
(3) प्रेम करने वालों की राह में व्यावधान पैदा होना।
(4) प्रेमीप्रेमिका का अलग हो जाना।
प्रयोग – शिवम तथा मंजू एकदूसरे से बेइन्ताह प्यार करते थे परन्तु उनके
परिवार वालों के कारण उनका इश्क परवान न चढ़ सका।

मुहावरा – इन्सानियत को दागदार करना
अर्थ – (1) इन्सानियत विरोधी कार्य करना ।
(2) कोई ऐसा गलत काम कर देना जिसकी भरपाई न हो सके।
(3) बलात्कार जैसा अपराध कर बैठना।
(4) दहेज के लिए बहू की हत्या कर देना।

प्रयोग – सुलाखान ने अपनी ही भतीजी को हवस का शिकार बनाकर
इन्सानियत को दागदार कर दिया।

मुहावरा – इस हाथ दे, उस हाथ ले।

अर्थ –

(1) साथ के साथ लेनादेना ।
(2) हाथोंहाथ हिसाब बराबर करना।
(3) बाद के लिए बाकी न छोड़ना।
(4) तुरतफुरत निपटाना ।

रमेश व्यापार में न तो उधार लेता है और न ही देता है। उसका
सिद्धान्त है, इस हाथ दे उस हाथ ले।

मुहावरा – ईद का चाँद होना।

अर्थ –

(1) काफी दिन तक दिखाई न देना।
(2) लम्बे समय तक मुलाकात न होना।
(3) किसी का ज्यादा व्यस्त हो जाना।
(4) काफी दिन बाद मुलाकात होना।

प्रयोग – सुधीर तो नौकरी लगते ही ईद का चाँद हो गया।

 

मुहावरा – उलू समझना।

अर्थ –

(1) बेवकूफ मानना।
(2) मूर्ख समझना।
(3) अज्ञानी मानना।
(4) किसी चीज का जानकार न मानना।
प्रयोग – बहुतसे लोग सामने वाले को उल्लू समझते हैं।

मुहावरा – उड़द पर सफेदी के बराबर भी शर्म नहीं।

अर्थ

(1) निर्लज्ज होना ।
(2) किसी की लिहाज न करना।
(3) किसी की शर्म न करना।
(4) बेहया होना।
प्रयोग – नरेश की आँखों में तो उड़द पर सफेदी के बराबर भी शर्म नहीं

मुहावरा – उठा-पटक करना।

अर्थ

(1) किसी कार्य में व्यावधान उत्पन्न करना।
(2) मामला बिगाड़ देना।
(3) इधरउधर की करना।
(4) तोड़फोड़ करना।

प्रयोग – हरीश की आदत हर मामले में उठापटक करने की है। ।

मुहावरा – उसका कोई सानी न होना।

अर्थ

(1) बहुत ज्यादा होशियार हो ।
(2) जिसके बराबर कोई योग्य न हो।
(3) जिसकी काम में बराबरी न हो।
(4) जिसका कोई विकल्प न हो।

प्रयोग – को काम में इतनी महारथ हासिल है उसका दिनेश अपने कि कोई सानी नहीं है।

मुहावरा – उल्टा चोर कोतवाल को डाँटे।

अर्थ

(1) गलती करके उसे दसरों पर थोपना।
(2) उल्टा दोषारोपण करना।
(3) स्वयं गलती करके दूसरों को डॉटना।
(4) गलत काम से रोकने वाले को ही गलत बताना।

प्रयाग – ने सुरेश सामान हड़प लिया तथा कहन दिनेश का कुछ पर सुरेश

 

1. अक्ल का दुश्मन-(मूर्ख) 

वह तो पूरा का पूरा अक्ल का दुश्मन निकला मतलब पूरा पागल मुझे तो पता भी नहीं था ।

Hindi Muhavare

 

2. अक्ल चकराना-(कुछ समझ में न आना)-

प्रश्न-पत्र देखते ही मेरी अक्ल चकरा गई ।

3. अक्ल के पीछे लठ लिए फिरना (समझाने पर भी न मानना)-

तुम तो सदैव पागलों की तरह  अक्ल के पीछे लठ लिए फिरते हो।

4. अक्ल के घोड़े दौड़ाना-(तरह-तरह के विचार करना)- 

बड़े-बड़े वैज्ञानिकों ने अक्ल के घोड़े दौड़ाए, तब जाकर कहीं वे अणुबम बना सके।

 

मुहावरा – ऊँट के मुँह में जीरा।
अर्थ –

(1) बहुत ही अपर्याप्त होना।
(2) ना के बराबर होना।
(3) जरूरत से बहुत कम होना।
(4) मांग के अनुरूप बहुत कम होना।
प्रयोग – हमारे शहर की सफाई व्यवस्था के लिए जो आर्थिक सहायता
सरकार द्वारा भेजी गयी वह ऊंट के मुंह में जीरा साबित हुई।

मुहावरा – एक आंख से देखना।

अर्थ –

(1) किसी के साथ भेदभाव न करना।
(2) सबको बराबर समझना ।
(3) सबकी बराबर इज्जत करना।
(4) सबसे एक-सा व्यवहार करना।
प्रयोग – सभ्य व्यक्ति किसी को छोटाबड़ा न मानकर सबको एक आँख से
देखते हैं।
मुहावरा – एक अनार सौ बीमार।
अर्थ –

(1) किसी चीज को प्राप्त करने के लिए बहुत लोगों का प्रयासरत
होना।
(2) किसी काम को लेने के लिए कई लोगों का पीछे लग जाना।
(3) किसी एक की ज्यादा लोगों को चाहत होना।
(4) कम चीज होने पर भी मांग ज्यादा होना ।
प्रयोग – किसी अच्छे ठेके को पाने के लिए बहुत-से ठेकेदार प्रयासरत् थे।
एक अनार सौ बीमार, किसे ठेका दें किसे न दें।

मुहावरा – एक और एक ग्यारह होना।
अर्थ –

(1) सभी का संगठित रहना।
(2) संयुक्त रूप से साथ रहना।
(3) मिलजुलकर काम निपटाना।
(4) किसी परेशानी का संयुक्त रूप से समाधान करना।
प्रयोग – दिनेश-महेश पर जब बुरा वक्त पड़ा तो दोनों ने मिलकर उसका
ऐसा मुकाबला हुए
किया कि वे एक और एक ग्यारह साबित ।

मुहावरा – एक का एक उस्ताद।
अर्थ :

(1) एक-दूसरे से ज्यादा होशियार होना।
(2) एक-दूसरे से ज्यादा कलाकार होना।
(3) एक दूसरे से ज्यादा बेईमान होना।
(4) एकदूसरे का ज्यादा झूठा होना।
प्रयोग – रमेश तथा अख्तर दोनों अच्छे साझीदार थे परन्तु जब उनकी
बेईमानी खुली तो एक का एक उस्ताद साबित हुआ।

मुहावरा – ऐसा वैसा समझना।
अर्थ –

(1) सामान्य समझ लेना।
(2) गयागुजरा मान लेना।
(3) गिरा पड़ा मान लेना।
(4) कुछ न समझना।
प्रयोग – रविन्द्र ने राम को ऐसावैसा समझकर भारी चोट खा ली।

मुहावरा – ऐरा-गेरा नत्थू खेरा।
अर्थ –

(1) गयागुजरा।
(2) बेकाम काम का।
(3) बिल्कुल बेकार।
(4) निखट्टू।
प्रयोग – विनोद खाम-खां ऐरेगैरे नत्थू खेरों में घिरा रहता है।

मुहावरा – ऐसी-तेसी करना।
अर्थ –

(1) नुकसान पहुचा देना
(2) बरबाद कर देना।
(3) का बिगाड़ देना।
(4) ज्यादा बेईज्जत कर देना।
प्रयोग – अशोक ” ने अरुण के काम में रोड़ा अटका कर उसकी ऐसी-तेसी
कर दी।

मुहावरा – ऐंचतानी में पड़ना।
अर्थ-

(1) झगड़े में फंसना।
(2) लड़ाई में उलझ जाना।
(3) विवाद में फंस जाना।
(4) दूसरों की लड़ाई में कूदना।
प्रयोग अब्दुल्ला को ऐंचातनी में पड़ने की परानी आदत है

 

मुहावरा – ऐंठ दिखाना।
अर्थ –

(1) अकड़ दिखाना ।
(2) हेकड़ी करना।
(3) राब जमाना ।
(4) धौंस दिखाना।
प्रयोग – राकेश हर किसी को ऐंठ दिखाता फिरता है।

मुहावरा – ऐंठ जाना।
अर्थ –

(1) अकड़ जाना ।
(2) रूठ जाना।
(3) संतुष्ट न होना।
(4) बुरा मान जाना।
प्रयोग – अशोक बात-बात पर ऐंठ जाता है ।

मुहावरा – ऐंठ निकालना।
अर्थ –

(1) घमंड तोड़ देना ।
(2) नीचा दिखा देना।
(3) पराजित कर देना।
(4) गर्व दूर कर देना।
प्रयोग – नरेन्द्र ने कुश्ती में दिनेश को हराकर उसकी ऐंठ निकाल दी ।

मुहावरा – यज्ञ में आहुति देना।

अर्थ –

(I) अच्छे कार्य में सहयोग करना।
(2) किसी के कार्य में सहायता करना।
(3) अच्छे काम में मदद करना।
(4) धार्मिक कार्यों में हिस्सा लेना।
प्रयोग – सुदेश गरीब व्यक्ति था लोगों ने उसकी बेटी के विवाह में मदद करके यज्ञ में आहुति देने का काम किया।

मुहावरा – यज्ञ सफल होना।

अर्थ – (1) अच्छा काम पूरा होना।
(2) अच्छे परिणाम प्राप्त होना।
(3) मेहनत सफल होना।
(4) कामयाबी मिलना।
प्रयोग – वरुण ने मन लगाकर पढ़ाई की वह परीक्षा में अच्छे नम्बरों से पास हुआ। इसे कहते हैं यज्ञ सफल होना।

 मुहावरा – युग बीत जाना।

अर्थ –

(1) बहुत काल व्यतीत होना ।
(2) बहुत समय बीत जाना।
(3) समय का पता न होना।
(4) पुरानी बात हो जाना।
प्रयोग – कुरुक्षेत्र के मैदान में महाभारत हुए युग बीत गया।

मुहावरा – यमपुर जाना।

अर्थ –

(1) मृत्यु हो जाना।
(2) स्वर्ग सिधार जाना।
(3) मौत होना।
(4) शरीर त्यागना।
प्रयोग – बेचारा बहुत बूढ़ा था, बिस्तर पर पड़ा हुआ कष्ट झेल रहा था
अच्छा हुआ यमपुर चला गया।

मुहावरा – योग देना।

अर्थ है –

(1) सहायता करना ।
(2) काम में मदद करना।
(3) सहयाग करना।
(4) काम निकाल देना।
प्रयोग – अच्छा पड़ौसी अपने पड़ौसी को योग देता है।

मुहावरा – रस्सा कसी होना।

अर्थ –

(1) खींचतान होना ।
(2) छीनाझपटी होना।
(3) कड़ी प्रतिद्वन्दिता होना।
(4) उठा-पटक होना।

प्रयोग – हरीश और महेश के एक जैसे व्यवसाय में लगे रहने के कारण। उनमें निरन्तर रस्सा कसी चलती रहती है।

मुहावरा – राई का पहाड़ बनाना।

अर्थ –

(1) छोटी बात को बड़ी करना।
(2) किसी मामूली विवाद को बढ़ावा देना।
(3) किसी की बात को बढ़ाचढ़ाकर कहना।
(4) किसी बात को नमकमिर्च लगाकर बताना।
प्रयोग – रमेश ने सुरेश से अरूण के विषय में जरासी बात कही थी। सुरेश ने राई का पहाड़ बनाकर वह बात अरूण से कह दी जिससे दोनों
में झगड़ा हो गया।

मुहावरा – रफू चक्कर हो जाना।

अर्थ –

(1) गायब हो जाना।
(2) छिप जाना।
(3) भाग जाना।
(4) फरार हो जाना।
प्रयोग – जब तक मुकेश का यह पता नहीं लगा कि वह अपराध की दुनिया से जुड़ा है तब तक वह शहनशाह बना घूमता रहा तथा जब उसकी
पोल खुली तो वह रफू चक्कर हो गया।

मुहावरा – रगरग से वाफिक होना।

अर्थ

– (1) हर राज का जानकार होना।
(2) हर आदत की जानकारी होना।
(3) प्रत्येक करतूत का पता होना।
(4) हर चार सौ-बीसी का ज्ञान होना।

प्रयोग – रामकुमार की रग-रग से वाफिक होने के बाद भी सुदेश उससे व्यापार में नुकसान उठा बैठा।

 

मुहावरा – ऐंठ लेना।
अर्थ : –

(1) ठग लेना।
(2) दूसरे का माल हत्य्या लेना।
(3) धोखाधड़ी कर देना।
(4) हड़प लेना।
प्रयोग – रमेश ने सुरेश को धोखा देकर उसका माल ऐंठ लिया।

मुहाव – कच्चा चिट्ठा खोलना।
अर्थ –

(1) किसी की कमी को उजागर कर देना।
(2) किसी की गोपनीय बात खोल देना।
(3) किसी का ऐब खोल देना।
(4) किसी के रहस्य को बता देना।
विवाद होने पर महिलाएँ एक-दूसरी का कच्चा चिट्ठा खोल देती हैं।

मुहावरा – कलई खुलना।
अर्थ ’

(1) किसी को कमी ज्ञात हो जाना।

2) असलियत ज्ञात हो जाना।
(3) बेईमानी खुल जाना।
(4) भेद खुल जाना।
प्रयोग – हमारी नगरपालिका ने नाले की सफाई के बड़ेबड़े दावे किये मगर
पहली ही बरसात से हुए जलभराव ने उनके दावों की कलई खोल
दी।
मुद्दावरा – कोल्हू का बैल होना।
अर्थ

– (1) हमेशा काम में लगा रहना।
(2) क्षमता से ज्यादा काम करना।
(3) सारी जिम्मेदारी एक पर ही होना।
(4) जी तोड़ मेहनत करना।
प्रयोग – रमेश कोल्हू के बैल की तरह हमेशा काम में जुटा रहता है।

मुहावरा – कटी पतंग होना।
अर्थ –

(1) जिसके कोई सिर पर न हो ।
(2) बेसहारा होना।
(3) जिसका कोई ध्येय न हो।
(4) उददेश्यहीन होना।
प्रयोग – पति का साया उठ जाने से सुषमा कटी पतंग हो गयी ।

मुहावरा – काला अक्षर भैंस बराबर।
अर्थ –

(1) बिना पढ़ालिखा होना ।
(2) अज्ञानी होना।
(3) कुछ भी न जानना।
(4) किसी काम को न जानना।
प्रयोग – विशाल कभी स्कूल नहीं गया। उसके लिए तो काला अक्षर भैंस
बराबर है।

मुहावरा – कान में तेल डालना।
अर्थ –

(1) किसी की बात नहीं मानना।
(2) किसी की बात पर ध्यान नहीं देना।
(3) किसी की न सुनना।
(4) बहरा बन जाना।
प्रयोग – सुरेश भले ही कोई अच्छी सलाह दे, वह कान में तेल डालकर
बैठ जाता है।

मुहावरा कलम तोड़ना।
अर्थ – (1) बहुत सुन्दर लिखना।

Also Read:

 

 

Hindi Muhavare

 

 

Also Read:

 

 

Hindi Muhavare
Hindi Muhavare

 

31. उड़ती चिड़िया पहचानना – (रहस्य की बात दूर से जान लेना) –

वह इतना अनुभवी है कि उसे उड़ती चिड़िया पहचानने में देर नहीं लगती ।

32. उन्नीस बीस का अंतर होना – (बहुत कम अंतर होना) –

राम और श्याम की पहचान कर पाना बहुत कठिन है ,क्योंकि दोनों में उन्नीस बीस का ही अंतर है ।

33. उलटी गंगा बहाना – (अनहोनी हो जाना) –

राम किसी से प्रेम से बात कर ले ,तो उलटी गंगा बह जाए ।

34. घर करना- (बस जाना) –

मधुमक्खियां एकबार जहाँ घर करते हैं उस जगह को वे कभी नहीं भूलते।

35. अंगूठा चुमना- (खुसामत करना) –

हमेशा दूसरों के अंगूठा चुमने वाले अपना स्वाभिमान खो देते है।

36. पीठ ठोकना- (शाबाशी देना) –

परीक्षा में प्रथम स्थान पाने के लिए शिक्षक ने रवि की पीठ ठोकी।

37. अपने पाँव पर कुल्हाड़ी मारना- (अपनी हानि अपने करना) –

पढ़ाई से जी चुराने वाले विद्यार्थी अपने पाँव पर कुल्हाड़ी मारते हैं।

38. आवाज़ उठाना (विरोध करना) –

अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठाना देश के प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है।

39. कमर कसना (तैयार करना) –

कमर कस लो, पता नहीं, कब शत्रुओं से लोहा लेना पड़े।

 

कुछ नए Hindi muhavare सिर्फ आप सबके लिए

 

1. कथनी की तुलना में करनी ज़्यादा असरदार होती है

लोगों के कहने से ज्यादा जो वो करते हैं, उसकी ज्यादा अहमियत होती है

 

2. अगं -अगं ढीला होना ( बहतु थक जाना ) :

दिन भर की दौड़-धपू से मेरा सारा अगं -अगं ढीला हो रहा है।

 

3. कोहलू का बैल दिन रात काम में जुटा रहने वाला 

संतोष देवी की बहू तो कोहलू के बैल की तरह काम में लगी रहती है।

 

4. घाट-घाट का पानी पीना ( काफ़ी अनभवी होना ) :

तमु उसे उल्लू नहींबना सकते, उसने घाट-घाट का पानी पी रखा ह

 

5. हथेली पर सरसो जमाना ( असभवं काम करके दिखाना ):

अगर मेहनत करो तो तमु भी अपने हाथो पर सरसो जमा सकते हो।

 

6. ऊँट के महँ में जीरा होना ज्यादा खाने वाले को कम देना :

भीम के लिए 10 रोटियां ऊँट के महँ में जीरा के समान है

 

7 अधजल गगरी छलकत जाय।

अर्थ-

(1) मूर्ख व्यक्ति बहुत ज्यादा ज्ञानी होने का दावा करता फिरता ।
(2) छोटा व्यक्ति बड़ीबड़ी बातें बनाता है।ह

8.  अंधेरे में तीर चलाना।
अर्थ

(1) व्यर्थ ही इधरउधर हाथपैर फेंकना।
(2) सही राह पर न चलना।
अन्धा बाँटे रेवड़ी अपने-अपने को दे।
अर्थ-

(1) अपनों का हित साधना।
(2) असमानता का व्यवहार करना ।

 अन्धों में काना सरदार।

अर्थ )

(1) बेवकूफों के बीच थोड़ा अक्लमंद।
(2) अकेला दुकानदार होना।

 

 अन्धे के हाथ बटेर लगना।

अर्थ-

(1) अचानक इच्छित कार्य का पूर्ण हो जाना।
(2) भाग्य से मनचाहा फल प्राप्त हो जाना।

 अपना करना अपना खाना।

अर्थ

(1) अपने काम से काम रखना।
(2) दूसरों से ज्यादा सम्पर्क न रखना।

 अन्धा गावेबहरा बजावे, गूगा ताल लगाई।
अर्थ-

(1) सबको अपनीअपनी करना।
(2) एक-दूसरे की बात न मानना।

 अन्त भले का भला।
अर्थ-

(1) अच्छे का परिणाम अच्छा ही होता है।
(2) भला करने वाले का हमेशा भला होता है।

 अपने मरे बिना स्वर्ग नहीं मिलता।
अर्थ

(1) स्वयं करे बिना कार्य पूर्ण नहीं होता।
(2) दूसरों के ऊपर काम छोड़ने से वह बिगड़ जाता है।

 अब पछताये क्या होतजब चिड़िया चुग गयी खेत।

अर्थ

(1) नुकसान होने पर पछताने का कोई लाभ नहीं।
(2) लापरवाही करने से काम बिगड़ जाने पर पछताने से क्या होता

 अपनी इज्जत अपने हाथ।
अर्थ-

(1) अपना सम्मान कराना अपने हाथ में होता है।
(2) समझदार व्यक्ति कभी अपमानित नहीं हो सकता।

 

 घर का भेदी लका ढाये।

अर्थ- (1) राजदार व्यक्ति बरबाद कर सकता है।
(2) आपसी फूट बरबादी का कारण बनती है।

 घर-घर मटियाले चूल्हे।
अर्थ –

(1) कोई घर ऐसा नहीं जहाँ थोड़ा बहुत विवाद न होता हो।
(2) प्रत्यके घर की स्थिति एक सी होना।

 घर नहीं तो बाहर भतेरे।
अर्थ-

(1) कहीं न कहीं अपने से ताकतवर टकरा ही जायेगा ।
(2) घर में अगर सभी सहन करते हों तो बाहर वाला मुंह तोड़ जवाब दे देगा।

 घर के तो थे ही, दहेज में भी ऐसे ही मिले।

अर्थ-

(1) स्वयं तो बेकार थे ही रिश्तेदार भी बेकार मिल गये।
(2) औलाद तो नालायक थी ही रिश्तेदार भी नालायक ही मिल गये।

 घोड़े दौड़ाना।

अर्थ-

(1) पूरी ताकत लगा देना।
(2) आखिरी क्षण तक प्रयास करना।

 घर में पीसे पिसनहारी, माँ पीसे पधान के।

अर्थ-

(1) घर पर नौकर काम करें तथा स्वयं दूसरों के यहाँ काम करे।
(2) झूठा दिखावा करना।

 घर में नहीं दानेअम्मा चली भुनाने।

अर्थ-

(1) घर में कुछ न होने पर भी खर्चा करना।
(2) अपने पास कुछ न होना तथा दूसरे को देने की बात करना।

घोड़े का सवार भी गिरता है।
अर्थ-

(1) भूल अच्छे-अच्छे समझदारों से भी हो जाती है।
(2) अनुभवी व्यक्ति भी गलती कर जाता है।

 घास न डालना।
अर्थ-

(1) मुंह फेर लेना।
(2) सही ढंग से बात न करना।

 घुट-घुटकर मरना।
अर्थ-

(1) अन्दर ही अन्दर परेशान रहना ।
(2) सारी परेशानी बिना किसी को बताये स्वयं सहन करना।

 

मुहावरा – थरथरी लगना।
अर्थ –

(1) काँपने लगना।
(2) बुरी तरह भयभीत होना।
(3) घबरा जाना।
(4) बैचेनी होना।

प्रयोग – झगड़े के नाम से ही अरुण को थरथरी लगने लगती है।

मुहावरा – थर्रा जाना।

अर्थ –

(1) डर जाना।
(2) भयभीत होना।
(3) बुरी तरह घबरा जाना।
(4) अन्दर तक काप जाना।

प्रयोग – गोली की आवाज सुनते ही रमेश थर्रा गया।

मुहावरा – थाह मिलना।
अर्थ  –

(1) भेद पा जाना।
(2) जानकारी हो जाना।
(3) वास्तविकता का पता चल जाना।
(4) असलियत जान लेना।

प्रयोग – गोविन्द ने श्याम की थाह पा ली।

मुहावरा – थाह लगाना।
अर्थ –

(1) वास्तविकता का पता करना।
(2) असलियत ज्ञात करना।
(3) सही स्थिति का पता करना।
(4) किसी के भीतर तक की जानकारी पा लेना।

प्रयोग – दिनेश ने रमशे की थाल लगा ली।

मुहावरा – ककर चाटना।

अर्थ –

(1) अपनी प्रतिज्ञा से डिग जाना ।
(2) अपनी बात से मुकर जाना।
(3) अपने कदम पीछे हटा लेना।
(4) वायदे से पीछे हटना।

प्रयोग- अशोक ने रमेश से वायदा तो कर लिया उसे पूरा न करके परन्तु थूककर चाट लिया।

मुहावरा- यू यू करना।

अर्थ –

(1) घृणा करना ।
(2) लानत में जाना।
(3) जलील करना।
(4) बुरा भला कहना।

प्रयोग – मैंने तो अच्छा सोचकर किया था किन्तु सब इस काम से मेरे ऊपर करने लगे।

मुहावरा – थोड़ा होना।

(1) कम होना।
(2) किसी बात की कमी होना।
(3) आवश्यकतानुसार न होना।
(4) कार्य पूर्ण न होना।

प्रयोग – तरुण के पास धन थोड़ा होने के कारण उसकी पुत्री की शादी में विटन उत्पन्न हुआ।

मुहावरा – दाल में काला होना।

अर्थ –

(1) घोटाला होना ।
(2) बात में राज होना।
(3) कोई रहस्य होना।
(4) साफ बात न करना।

प्रयोग – ठेकेदार की इधर उधर की बातों से यह स्पष्ट प्रतीत हो रहा था कि दाल में काला जरूर है।

मुहावरा – दाल न गलना।
अर्थ –

(1) जुगाड़ न लग पाना।
(2) स्वार्थ सिद्ध न हो पाना।
(3) कलाकारी में सफलता न मिलना।
(4) जोड़-तोड़ न हो पाना।

प्रयोग – रविन्द्र एक व्यवसायी को अपनी बातों में फंसाकर उसका माल हड़पना चाहता था परन्तु व्यवसायी की होशियारी के चलते उसकी दाल न गल सकी।

 

मुहावरा – अन्धे के हाथ बटेर लगना।

अर्थ –

(1) बैठे-बिठाये किसी काम का बन जाना।
(2) भाग्य से किसी कार्य का पूर्ण हो जाना।
(3) कुरूप व्यक्ति को सुन्दर पत्नी का मिल जाना।
(4) बिना मेहनत के ही धन प्राप्त हो जाना।
प्रयोग – विकास हमेशा ठलुआ घूमता था, अचानक उसकी लाटरी निकल आयी परन्तु हमेशा अन्धे के हाथ बटेर नहीं लगती।

मुहावरा – अपने मुँह मियां-मिठू बनना।

अर्थ –

(1) अपने मामूली प्रयास का बड़ा बखान करना।
(2) स्वयं को आवश्यकता से ज्यादा योग्य बताना।
(3) अपनी प्रशंसा स्वयं करना।
(4) अपने आपको औरों से बड़ा प्रदर्शित करना।

प्रयोग – नाकारा विनोद इतना बड़बोला है कि वह अपने मुंह मियां मिळू बनता रहता है जबकि सभी उसकी असलियत को जानते हैं।

मुहावरा –  अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारना।

अर्थ – (1) जानते हुए भी अपना काम खराब कर लेना।
(2) अपने ही काम में रुकावट पैदा कर लेना।
(3) जान-बूझकर अपनी प्रगति के रास्ते में अवरोध खड़ा कर लेना।
(4) अपने शुभचिन्तक से सम्बन्ध खराब कर लेना।
प्रयोग – अपने अच्छे चलते व्यवसाय के साथ दूसरा व्यवसाय, जिसका अनुभव भी नहीं था में पैसा लगाकर अरूण ने अपने पैरों पर आप
कुल्हाड़ी मार ली। उसके दोनों व्यवसाय चौपट हो गये।

मुहावरा – अक्ल के पीछे लट्ठ लिए फिरना।
अर्थ –

(1) मूर्खता भरे काम करना।
(2) बुद्धिहीनता का परिचय देना।
(3) अपने आगे किसी दूसरे की न चलने देना।
(4) दूसरों के झंझटों को अपने ऊपर ले लेना।

प्रयोग – विकास अक्ल के पीछे लट्ठ लिए फिरता है। पड़ोसी के झगड़े में अपने आपको फंसा लिया।

मुहावरा- अन्धा क्या चाहे, दो आँख।
अर्थ –

(1) किसी का कार्य पूर्ण हो जाना।
(2) किसी की इच्छा पूर्ति हो जाना।
(3) बिगड़ा काम बन जाना।
(4) किसी विवाद का निपटारा हो जाना।

प्रयोग – किसी कार्यालय में दिनेश को पूर्व परिचित मिल गया उसने तुरन्त ही उसका काम करा दिया? अन्धा क्या चाहे दो आँख।

मुहावरा – अंगूठा दिखाना।
अर्थ
(1) वक्त पर मुकर जाना।
(2) वादा करके उसे पूरा न करना।
(3) अपमानजनक तरीके से काम करने से इन्कार करना।
(4) आश्वासन देने के बाद सहायता न करना।
प्रयोग – मुनीश हमेशा अनिल के बुरे वक्त में मददगार बना रहा परन्तु जब मुनीश को मदद की जरूरत पड़ी तो अनिल ने इन्कार करके उसे
अंगूठा दिखा दिया।

मुहावरा- अगिया बेताल होना।
अर्थ –

(1) बिना बात गुस्सा होना।
(2) बिना बात आग-बबूला हो जाना।
(3) संयम खो बैठना।
(4) व्यर्थ मारपीट पर उतारु हो जाना।
प्रयोग – कुछ लोग अपनी कमियां या गलती सुनकर अगिया बेताल हो उठते हैं।

मुहावरा – अमानत में खयानत।

अर्थ

(1) किसी का दिया माल वापस न करना।
(2) रखा सामान हड़प लेना।
(3) सुपुर्दगी के माल को हजम करना।
(4) साझे के सामान अथवा धन में हेरा-फेरी करना।

प्रयोग – अशोक व्यापार के सम्बन्ध में बाहर गया तो अपना व्यवसाय नरेन्द्र को सौंप गया तो उसने उसके व्यवसाय पर कब्जा जमाकर अमानत में खयानत कर दी।

मुहावरा – आँखें चार होना।
अर्थ

(1) किसी से नैन लड़ जाना।
(2) किसी से प्रेम हो जाना।
(3) निगाहें मिलना।
(4) किसी से लगाव हो जाना।
प्रयोग – अरुण तथा अंजू जिस समय आमने-सामने पड़े तो उनकी आँखें चार हो गयीं तथा वे विवाह के बन्धन में बंध गये।

मुहावरा – अन्धों में काना सरदार।
अर्थ –

(1) मूों में अकलमंदी दिखाने वाला।
(2) मूर्ख को सलाह देना वाला।
(3) बुद्धिहीन द्वारा दूसरों को बुद्धिहीन बताने वाला।
(4) अपना काम बिगाड़कर औरों को सलाह देने वाला।

प्रयोग – राजेश अपने मूर्ख साथियों को उल्टी-सीधी सलाह देकर अन्धों में काना सरदार बना हुआ है।

 

तो दोस्तों आज मैंने आपको इस article मे बताया  Hindi muhavare with meaning and sentence on topic उम्मीद करता हूं कि आपको ये article पसंद आया होगा और आशा  करता हूं कि आपको इससे Hindi muhavare ओर meaning के बारे में आवश्यक जानकारी प्राप्त हुई  होगी। ऐसे और रोचक विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए  हमसे जुड़े रहें और हमारे article पढ़ते रहे।

Also Read:

 

Written by

Manish Yadav

I like to write on different type of topics related to Technology, Finance and Relationships. I hope you guys like my articles.

125 thoughts on “Hindi Muhavare With Meanings and Sentences 1000+ ( हिंदी मुहावरे और अर्थ )

  1. These idioms are good, but not very useful as the meanings are not same. As in our books, books have different meanings and on the site meanings are different.Me as a student of grade 8 would say that it is useful only for those who have done these idioms before but not very useful to those who have seen it for the first time.
    Thank You

    1. please try this कहाँ की बिजली और कहाँ जाकर के गिरी mean? कोई कही का रहने वाला और कही और जा कर मरा

  2. आम से मिठ्ठी आम की गुठली किया बिल्ली खुद सकती है कुतुब मीनार से ऊची

  3. किसी भी इन्सान का गुस्सा उसकी उम्र से बडा नही होता।
    इस का क्या अर्थ हे।

    1. Aakho me chamak aana, — bahut kush hona
      Hath me na aana, koi moka hath se nikal jana
      Hato hath lena — bahut jaldi kisi kaam ko karna
      Hatheli par jaan rakhana — apni jindagi ki parvah kiye bina koi kaam karna
      Hath me khujali hona —kahi se kuch acha hone ki ummeed hona

    1. Stubborn people don’t listen to you till they have a very good thrashing.

      शरारती समझाने से वश में नहीं आते

  4. ऐसी कौन सी चीज है जो सुबह को देखो तो हरा, दोपहर को काला, शाम को नीला, और रात को सफेद दिखती है? Answer plzzzz

    1. हाथ कंगन को आरसी क्या , पढ़े लिखे को फ़ारसी क्या
      कहावत का अर्थ है => प्रत्यक्ष को प्रमाण की आवश्यकता नही होती । अर्थात जो सामने देख लिया जाए उसके लिए किसी सबूत या प्रमाण की जरुरत नही होती है

    1. Haath saaf karna. iska matlab hai apna kaam pura kar dena
      Haath pair Fulna. iska matlab hai pareshan hona..
      Nazar aana. iska matlab hai kisi ko dekhna
      Nazar rakhna iska matlab hai kisi ki chokedari karna

    1. युद्धक्षेत्र से भाग जाना
      sentance मैदान छोड़ कर भागने वाला कायर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.