Flipkart History in Hindi 🎁 फ्लिपकार्ट की कहानी हिंदी में

Flipkart History in Hindi 🎁 फ्लिपकार्ट की कहानी हिंदी में
5 (100%) 1 vote

Flipkart History in Hindi अगर आप ये जानना चाहते है तो आप सही वेबसाइट पर आये है। Flipkart या फिर हिंदी में फ्लिपकार्ट को आज हर कोई जनता है की
इस वेबसाइट पर आप कुछ भी खरीद और बेच सकते है  आज इस आर्टिकल में हम आपको बातयेंगे की Flipkart कंपनी की शुरूवात किसने और कैसे की। तो आज इस आर्टिकल में हम आपको Flipkart History in Hindi में बातयेंगे और आपको एप्पल कंपनी की कहानी हिंदी में बता रहे है।

 

Flipkart History in Hindi

Flipkart History in Hindi

फ्लिपकार्ट (Flipkart) भारत की एक ई-कॉमर्स कम्पनी है। इसका मुख्यालय बंगलौर में स्थित है। इसकी स्थापना सन् 2007 में IIT दिल्ली में पढ़ने वाले सचिन बंसल और बिनी बंसल द्वारा की गई थी। शुरुवात में Flipkart पर भी अमेज़न की तरह सिर्फ किताबे बेचीं जाती थी लेकिन धीरे धीरे हर तरह की केटेगरी को अपनी लिस्ट में शामिल कर लिया और आज ऐमज़ॉन को कड़ी तकर दे रहा है . इंडिया में ऑनलाइन शॉपिंग का ट्रेंड सिर्फ फ्लिपकार्ट ने शुरू किया था तब सिर्फ ऐमज़ॉन और स्नैपडील उसके कॉम्पिटिटर हुवा करते थे। Flipkart ने 11 साल हो गए है

Flipkart पर आप क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग, ई-गिफ्ट वाउचर और और भी कई तरीके से पेमेंट कर सकते हो।

फ्लिपकार्ड ने कुछ प्रोडक्ट ‘डिजिफ्लिप’ (DigiFlip) के नाम से भी बेच रही है जिनमे कैमरा-बैग, पेन-ड्राइव,कम्प्यूटर तथा हेडफोन के सामान आदि हैं।

ताज़ा रिपोर्ट की बात करे तो अमेरिका की बहुराष्ट्रीय कंपनी वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट की 77 फीसदी हिस्सेदारी के साथ 1.07 लाख करोड़ रूपये में खरीद लिया है इसके साथ साथ नैसपर्स कंपनी ने अपनी 11.18 फीसदी हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेच दी। उसने अपने शेयर 14,740 करोड़ रुपये में बेच दिए।

अगर आप फ्लिपकार्ट पर मोल भाव करना चाहते है उसके लिए आपको कैशबैक ऑफर धुनने होंगे जिससे आपको कुछ सामान सस्ता हो जायेगा। अगर आप फ्लिपकार्ट के कस्टमर केयर को कांटेक्ट करना चाहते है तो इस नंबर पर कॉल कर सकते है 1800 208 9898

 

Flipkart के शुरुवाती दिनों की कहानी

 

2007

सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने 2005 में एक दूसरे से IIT दिल्ली में मिले थे उसके बाद दोनों amazon में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर काम करते थे। 2007 में दोनों ने एक साथ अपनी नौकरी से रिजाइन देकर फ्लिपकार्ट की शुरुवात की। सबसे पहले फ्लिपकार्ट ने बुक्स बेचना शुरू किया था जल्दी ही उनके अपना पहला कस्टमर मिला जो की एक इंजीनियर था साल के आखिर तक 20 बुक की डिलीवरी वो कर चुके थे।

2008
फ्लिपकार्ट ने सुरुवाती दिनों में कोई मार्कटिंग पर पैसा खर्च नहीं किया जिन लोगो को उनकी सर्विस अच्छी लगती वो अपने आप दूसरे लोगो को उनके बारे में बता देते। ऐसे करते करते flipkart ने Bengaluru’s में एक ऑफिस खोल दिया। उसके बाद 24×7 customer service भी शुरू कर दी ताकि हर कस्टमर की अच्छे से मदद की जा सके। इस साल 3,400 के करीब आर्डर डिलीवर किये।

2009
इस साल फ्लिपकार्ट ने अपना पहला कर्मचारी hire कर लिया जिसने फ्लिपकार्ट की पूरी ERP को डिज़ाइन किया। जिसका नाम है Ambur Iyyappa, ये वो टाइम था जब बहुत से इन्वेस्टरों ने फ्लिपकार्ट में रूपया लगाने में अपनी रूचि दिखानी शुरू कर दी। और flipkart ने दिल्ली और मुंबई में अपना ऑफिस खोल लिया। और 150 लोग फ्लिपकार्ट के साथ जुड़ गए।

इसके साथ फ्लिपकार्ट ने पहली बार प्रीऑर्डर भी शुरू किया जिसमे आप बुक रिलीज़ होने से पहले ही बुक कर सकते थे

Also Read

 

2010

इंडिया की डिमांड को देखते हुवे फ्लिपकार्ट ने COD यानि कॅश ऑन डिलीवरी मतलब जब आपको आर्डर मिले तब आप पैसे दे सकते है इसके साथ साथ 30 दिन में वापिस करने की सेवा भी फ्लिपकार्ट ने शुरू की। देखते देखते फ्लिपकार्ट ने अपनी केटेगरी में Music, Movies, Games, Electronics, and Mobiles जैसी चीज़े ऐड कर दी। इसी साल फ्लिपकार्ट ने एक कंपनी को खरीद लिया जिसका नाम है WeRead

2011

कैमरा, कंप्यूटर, लैपटॉप, बड़े उपकरण, स्वास्थ्य, व्यक्तिगत देखभाल, और स्टेशनरी जैसे केटेगरी को भी फ्लिकार्ट अपनी वेबसाइट में ऐड कर दिया और भारत के 600 शेहरो में डिलीवरी देना शुरू कर दिया। Chakpak और Mime360 अलग तरह की सर्विस शुरू की।

2012

फैशन, इत्र, घड़ियाँ, पुरुषों के कपड़े, खिलौने, पोस्टर, और बेबी केयर जैसी केटेगरी को ऐड कर दिया उसके बाद DigiFlip नाम से electronics और Flyte MP3 से ऑनलाइन म्यूजिक की सेल करना शुरू किया

2013

flipkart ने 1 दिन में 1 लाख किताबे बेच कर एक रिकॉर्ड बना दिया और उसके बाद दूसरे सेलर के लिए भी रास्ता खोल दिया जहा पर कोई भी अपने प्रोडक्ट को फ्लिपकार्ट कर बेच सकता है।
Next Day Shipping Guarantee की सर्विस शुरू की जिसमे आपको अगले दिन ही प्रोडक्ट मिल जायेगा ये सर्विस बहुत ही कामयाब हुई।

 

2014

इस साल फ्लिपकार्ट ने Myntra को खरीद लिया और October महीने को Big Billion Day के नाम से फेमस कर दिया। ये एक त्योहार की तरह बनाने लग गया है और हर flipkart बहुत सारे ऑफर कैशबैक के साथ आता है और बहुत भरी शॉपिंग करवाता है।

 

2016 में बिन्नी बंसल ने फ्लिपकार्ट के सीईओ बन गए और सचिन बंसल Executive Chairman बन गए। टाइम मैगज़ीन ने दोनो को 100 सबसे influential लोगो में शामिल किया। इसके साथ साथ उनकी फ्लिपकार्ट अप्प को 50 million लोगो ने डाउनलोड किया। PhonePe जैसे UPI पेमेंट को भी खरीद लिया जिसको Flipkart में काम करने वालो ने ही बनायीं थी। इस तरह फ्लिपकार्ट ने हर तरह के रिकॉर्ड तोड़ दिए।

 

ताज़ा रिपोर्ट की बात करे तो अमेरिका की बहुराष्ट्रीय कंपनी वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट की 77 फीसदी हिस्सेदारी के साथ 1.07 लाख करोड़ रूपये में खरीद लिया है इसके साथ साथ नैसपर्स कंपनी ने अपनी 11.18 फीसदी हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेच दी। उसने अपने शेयर 14,740 करोड़ रुपये में बेच दिए।

 

3 Responses to “Flipkart History in Hindi 🎁 फ्लिपकार्ट की कहानी हिंदी में”
  1. parvez November 6, 2018
  2. Ajay kumar November 6, 2018

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.