What is Gst Bill in Hindi | जी एस टी बिल क्या है – GST Registration Process in Hindi

नमस्कार, आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है। दोस्तों आज कल GST की चर्चा पुरे भारत मे चल रही है तो आइये जानते है इसके बारे में | दोस्तों आज मैं आपको इस आर्टिकल में बताऊंगा What is GST Bill and GST Registration Process in Hindi. माल और सेवा कर या GST 1 जुलाई को शुरू हो जाने के लिए निर्धारित है। लेकिन जीएसटी क्या है और यह मौजूदा tax structure को कैसे सुधार देगा? और सबसे महत्वपूर्ण बात, देश को इसके taxation policies में इतना बड़ा ओवरहाल क्यों मिलता है? 

What is Gst Bill in Hindi / क्या है GST

GST से पहले, जब एक Product या कोई चीज़ का निर्माण किया जाता था, तो केंद्र सरकार production पर एक excise duty ( एक टैक्स ) लगाती थी और फिर राज्य सरकार वैट टैक्स उसपे जोड़ देती थी , जब यह चक्र अगले चरण में आता और कही बेचा जाता था तब फिर से बिक्री के अगले चरण पर एक और टैक्स लगता था। GST आने से ये सारे tax हट जाएंगे और सिर्फ एक ही तरीके का tax रह जाएगा। 1 जुलाई 2017 से पूरे manufacturing process के दौरान होने वाले सभी लेनदेन पर सिर्फ एक GST टैक्स लगाया जाएगा. GST का मतलब ही माल और सेवाओं पर टैक्स यानि Goods and Services Tax (GST)

What is Gst Bill in Hindi

क्यों जरूरी है जीएसटी – Why GST Bill is important

वर्तमान में, भारतीय tax दो तरीके से लिया जाता हैं –

प्रत्यक्ष कर (Direct ) और अप्रत्यक्ष कर ( indirect tax) – Income Tax डायरेक्ट टैक्स कर का एक अच्छा उदाहरण है जहां आप अपनी आय /salary पर टैक्स देने के लिए जिम्मेदार हो।

(indirect tax )अप्रत्यक्ष करों के मामले में, टैक्स की देनदारी किसी और की होती है इसका मतलब यह है कि जब दुकानदार को अपनी बिक्री पर वैट का भुगतान करना होगा, तो वह ग्राहक को liability दे सकता है।

इसलिए, असल में, ग्राहक उस आइटम के मूल्य के साथ-साथ उस पर वैट का भी भुगतान करता है ताकि दुकानदार सरकार को वैट जमा कर सके। इसका मतलब यह है कि ग्राहक को केवल उत्पाद की कीमत का भुगतान नहीं करता बल्कि वह टैक्स भी देता है, और इसलिए, जब वह किसी आइटम को खरीदता है तो उस पर उससे बहुत ज्यादा कीमत देनी पड़ती है।

GST लागू होने के बाद इस तरह के मुद्दे में सुधार होने की उम्मीद की जा सकती है । GST में इनपुट टैक्स क्रेडिट की एक प्रणाली है जो विक्रेताओं को पहले से टैक्स भुगतान करने का दावा करती है। ताकि अंतिम उपभोक्ता पर अंतिम liability कम हो।GST की अधिकतम दर 28% रखी गयी हैं और करीब 19% वस्तुएं ऐसी हैं जिन पर 28% की दर से GST लगेगा | जीएसटी के बाद ज्यादात्तर वस्तुएं सस्ती होंगी और सेवाएँ महँगी होंगी|

What is Gst Bill in Hindi

GST किस तरह से काम करेगा (How GST will work)

सख्त निर्देशों और प्रावधानों के बिना एक nationwide tax सुधार कार्य नहीं कर सकता है। जीएसटी परिषद ने इस नए कर व्यवस्था को तीन श्रेणियों में विभाजित करके इसे लागू करने की एक full proof plan तैयार किया है।आईये जानते है वो कैसे काम करेगा।

जब सामान और सेवा कर लागू किया जाएगा, तो 3 प्रकार के टैक्स लिया जायेगा

1. CGST: जहां केंद्र सरकार द्वारा revenue इकठा किया जाएगा
2. SGST: जहां राज्य सरकारों द्वारा intra-state sales के लिए revenue इकठा किया जाएगा
3. IGST: जहां inter-state sales के लिए केंद्र सरकार द्वारा revenue इकठा किया जाएगा

 

लेन-देननए नियमपुराने नियम
राज्यों के भीतर बिक्रीCGST + SGSTVAT + Central Excise/Service tax
दूसरे राज्य को बिक्रीIGSTCentral Sales Tax + Excise/Service Tax

 

इस टैक्स को एक उदाहरण के साथ समझते हैं

 

जीएसटी की मुख्य बातें – Benefits/Salient features of GST

यह देश के व्यवसायों/ बिज़नेस को एक स्तर के खेल का मैदान (pure competition ) बनाने में मदद करेगा।

यह हमें उन विदेशी राष्ट्रों के समान लाने में मदद करेगा जहा पर हमसे अच्छी टैक्स सिस्टम है।

यह अंत उपभोक्ता यानि (end यूजर ) के लिए बहुत फायदे मंद होगा जिसके बाद उन्हें अधिक से अधिक करों का भुगतान नहीं करना होगा।

अब माल और सेवाओं पर एक ही तरीके का tax होगा।

GST का लक्ष्य अप्रत्यक्ष कर (indirect टैक्स ) के नियम को organize करना है।

GST वैट सिस्टम पर एक advancement है, यह विचार है कि एक integrated जीएसटी कानून uninterrupted nationwide बाजार पैदा करेगा।

यह भी उम्मीद है कि GST से करों के संग्रह में सुधार के साथ-साथ राज्यों के बीच अप्रत्यक्ष कर (indirect टैक्स ) बाधाओं को दूर करके और एक समान कर देश को एकीकृत करके indian economy को बढ़ावा देंगे।

 

तो दोस्तों आज मैंने आपको इस article मे What is GST Bill in hindi and its Registration Process in Hindi. उम्मीद करता हूं कि आपको ये article पसंद आया होगा ओर और GST से संभंधित ज़रूरी जानकारी प्राप्त हुई होगी। ऐसे और रोचक विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए  हमसे जुड़े रहें

Reply

Leave a Reply