चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti in Hindi

नमस्कार, दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है। दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बताने जा रहा हूं जिसे लगभग पूरी दुनिया में हर कोई जानता है। जी हां आप सही समझ रहे हैं मैं बात कर रहा हूं आचार्य Chanakya / चाणक्य की। दोस्तों जेसा की आप सब जानते है कि आचार्य चाणक्य एक ऐसी महान विभूति थे, जिन्होंने अपनी intelligence और क्षमताओं के बल पर भारतीय इतिहास की धारा को बदल दिया। मौर्य साम्राज्य के संस्थापक चाणक्य Skilled politician, clever diplomat और एक बहुत अच्छे economist भी थे। तो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे Chanakya Niti Hindi में । आईये पढ़ते है कुछ कुछ famous चाणक्य नीतिया जो आपके जीवन बदल सकती है ।

पढ़े Chanakya Niti के जरुरी वाकये in Hindi

Chanakya Niti

1. जो व्यक्ति शास्त्रों के सूत्रों का अभ्यास करके ज्ञान ग्रहण करेगा उसे अत्यंत वैभवशाली कर्तव्य के सिद्धांत ज्ञात होगे। उसे इस बात का पता चलेगा कि किन बातों का अनुशरण करना चाहिए और किनका नहीं। उसे अच्छाई और बुराई का भी ज्ञात होगा और अंततः उसे सर्वोत्तम का ज्ञान होगा।

 

2. एक पंडित भी घोर कष्ट में आ जाता है यदि वह किसी मुर्ख को उपदेश देता है, यदि वह एक दुष्ट पत्नी का पालन-पोषण करता है या किसी दुखी व्यक्ति के साथ अतयंत घनिष्ठ सम्बन्ध बना लेता है ।

 

सपनों का मतलब और उनका फल – Sapno Ka Matlab in Hindi Swapan Phal in Hindi

 

3. दुष्ट पत्नी, झूठा मित्र, बदमाश नौकर और सर्प के साथ निवास साक्षात् मृत्यु के समान है।

Chanakya Niti

4. भविष्य में आने वाली मुसीबतो के लिए धन /रूपया एकत्रित करें। ऐसा ना सोचें की धनवान व्यक्ति को मुसीबत कैसी? जब धन साथ छोड़ता है तो संगठित धन/पैसा भी तेजी से घटने लगता है।

 

5. नौकर की परीक्षा तब ले जब वह कर्त्तव्य का पालन न कर रहा हो, रिश्तेदार की परीक्षा तब ले जब आप मुसीबत मे घिरें हों, मित्र की परीक्षा विपरीत परिस्थितियों मे ले और जब आपका वक्त अच्छा न चल रहा हो तब पत्नी की परीक्षा ले ।

 

6. अच्छा मित्र वही है जो हमे इन परिस्थितियों में नहीं छोड़े :

आवश्यकता पड़ने पर
किसी दुर्घटना पड़ने पर
जब अकाल पड़ा हो
जब युद्ध चल रहा हो
जब हमे राजा के दरबार मे जाना पड़े
और जब हमे समशान घाट जाना पड़े

 

बदलाव लाने वाली कहानियाँ Short Motivational Stories in Hindi For Student

7. इन 5 पर कभी विश्वास ना करें :

नदियां
जिन व्यक्तियों के पास अश्त्र-शस्त्र हों
नाख़ून और सींग वाले पशु
औरतें (यहाँ संकेत भोली सूरत की तरफ है, बहने बुरा न माने )
राज घरानो के लोगो पर

8. अगर हो सके तो विष/जहर मे से भी अमृत निकाल लें, यदि सोना गन्दगी में भी पड़ा हो तो उसे उठाये, धोएं और अपनाये, निचले कुल मे जन्म लेने वाले से भी सर्वोत्तम ज्ञान ग्रहण करें, उसी तरह यदि कोई बदनाम घर की कन्या भी महान गुणो से संपनन है और आपको कोई सीख देती है तो गहण करे.

Chanakya Niti

9. महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा:

2 गुना, लज्जा 4 गुना, साहस 6 गुना, और काम 8 गुना होती है।

 

10. झूठ बोलना, कठोरता, छल करना, बेवकूफी करना, लालच, अपवित्रता और निर्दयता ये औरतो के कुछ नैसर्गिक दुर्गुण है।

 

11. भोजन करने की क्षमता, सुन्दर स्त्री और उसे भोगने के लिए काम शक्ति, पर्याप्त धनराशी तथा दान देने की भावना – ऐसे संयोगों का होना सामान्य तप का फल नहीं।

Chanakya Niti

12. उस व्यक्ति ने धरती पर ही स्वर्ग को पा लिया:

पुत्र आज्ञांकारी है
पत्नी उसकी इच्छा के अनुरूप व्यव्हार करती है
अपने धन पर संतोष है।

 

हिंदी मुहावरे और अर्थ – Hindi Muhavare With Meanings and Sentences

 

13. पुत्र वही है जो पिता का कहना मानता हो, पिता वही है जो पुत्रों का पालन-पोषण करे, मित्र वही है जिस पर आप विश्वास कर सकते हों और पत्नी वही है जिससे सुख प्राप्त हो।

14. ऐसे लोगों से बचे जो आपके मुह पर तो मीठी बातें करते हैं, लेकिन आपके पीठ पीछे आपको बर्बाद करने की योजना बनाते है, ऐसा करने वाले तो उस विष/ जहर के घड़े के समान है जिसकी उपरी सतह दूध से भरी है।Chanakya Niti

15. हर पर्वत पर मोती नहीं होते, हर हाथी के सर पर मणी नहीं होती , सज्जन पुरुष भी हर जगह नहीं होते और उसी प्रकार हर वन मे चन्दन के वृक्ष भी नहीं होते हैं।

16. लाड-प्यार से बच्चों मे गलत आदते ढलती है, उन्हें कड़ी शिक्षा देने से वे अच्छी आदते सीखते है, इसलिए बच्चों को जरुरत पड़ने पर दण्डित करें, ज्यादा लाड ना करें।

17.   पत्नी का वियोग (अलग /तलाक ) होना, आपने ही लोगो से बे-इजजत होना, बचा हुआ ऋण, दुष्ट राजा की सेवा करना, गरीबी एवं दरिद्रों की सभा – ये छह बातें शरीर को बिना अग्नि के ही जला देती हैं।

18. एक ब्राह्मण का बल (शक्ति ) तेज और विद्या है, एक राजा का बल उसकी सेना मे है, एक वैशय का बल उसकी दौलत मे है तथा एक शुद्र का बल उसकी सेवा करने मे है।Chanakya Niti

19. वेश्या को निर्धन व्यक्ति को त्याग देना चाहिए, प्रजा को पराजित राजा को त्याग देना चाहिए, पक्षियों को फलरहित वृक्ष त्याग देना चाहिए एवं अतिथियों को भोजन करने के पश्चात् मेजबान के घर से निकल देना चाहिए।

20. जो व्यक्ति दुराचारी, कुदृष्टि वाले, एवं बुरे स्थान पर रहने वाले मनुष्य के साथ मित्रता करता है, वह जल्दी ही खुद नष्ट हो जाते है।

Swami Vivekananda Quotes in Hindi – स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन

 

21. प्रेम और मित्रता बराबर वालों में अच्छी लगती है, राजा के यहाँ नौकरी करने वाले को ही सम्मान मिलता है, व्यवसायों में वाणिज्य/commerce सबसे अच्छा है, और उत्तम गुणों वाली स्त्री अपने घर में सुरक्षित रहती है।

22. जो अस्वच्छ कपडे पहनता है. जिसके दात साफ़ नहीं है और जो बहुत ज्यादा खाता है और जो कठोर शब्द बोलता है और जो सूर्योदय के बाद उठता है. उसका कितना भी बड़ा व्यक्तित्व क्यों न हो, वह लक्ष्मी की कृपा से वंचित रह जायेगा

Chanakya Niti

23. पाप से कमाया हुआ पैसा दस साल रह सकता है. 11 साल में वह लुप्त हो जाता है, उसकी मुद्दल के साथ.

24. शास्त्रों का ज्ञान अमूल्य है और जो कलाए है वो अनंत है इसका मतलब ये कभी खत्म ना होने वाली है हमारे पास समय थोडा है इसीलिए वही सीखे जो अत्यंत महत्वपूर्ण है उसी प्रकार जैसे हंस पानी छोड़कर उसमे मिला हुआ दूध पी लेता है

 

25. एक व्यक्ति को चारो वेद और सभी धर्मं शास्त्रों का ज्ञान है. लेकिन उसे यदि अपने आत्मा की अनुभूति नहीं हुई तो वह उसी चमचे के समान है जिसने अनेक पकवानों को हिलाया लेकिन किसी का स्वाद नहीं चखा।

 

26. दुनिया में बाँधने के ऐसे अनेक तरीके है जिससे व्यक्ति को प्रभाव में लाया जा सकता है और नियंत्रित किया जा सकता है लेकिन सबसे मजबूत बंधन प्रेम का है इसका उदाहरण वह मधु मक्खी है जो लकड़ी को छेद सकती है लेकिन फूल की पंखुडियो को छेदना पसंद नहीं करती चाहे उसकी जान चली जाए।

Chanakya Niti

27. चन्दन कट जाने पर भी अपनी महक नहीं छोड़ते. हाथी बुढा होने पर भी अपनी लीला नहीं छोड़ता. गन्ना निचोड़े जाने पर भी अपनी मिठास नहीं छोड़ता। उसी प्रकार ऊँचे कुल में पैदा हुआ व्यक्ति अपने उन्नत गुणों को नहीं छोड़ता भले ही उसे कितनी भी गरीबी में क्यों ना रहना पड़े।

28. ये सब आपके पिता है

आपको जन्म दिया
आपको संस्कार दिए
आपको पढाया
आपको भोजन दिया
आपको भयपूर्ण परिस्थितियों में बचाया

29. व्यक्ति नीचे दी हुए 3 चीजो से संतुष्ट रहे

खुद की पत्नी
भोजन जो विधाता ( भगवान ) ने प्रदान किया
धन जितना इमानदारी से मिलाChanakya Niti

30. जिस प्रकार एक फूल में खुशबु है तील में तेल है लकड़ी में अग्नि है दूध में घी है गन्ने में गुड है उसी प्रकार यदि आप ठीक से देखते हो तो हर व्यक्ति में परमात्मा है

 

तो दोस्तों आज मैंने आपको बताया chanakya niti के बारे में वो भी hindi भाषा में। तो दोस्तो ये थे आचार्य चाणक्य के कुछ सलोक जिन्हे हम चाणक्य नीति भी कहते है। अगर आप chanakya niti को अपने जीवन में use करें ताकि आप भी अच्छा जीवन व्यतीत कर सकें। उम्मीद करता हूं कि आपको ये article पसंद आया होगा ओर आषा करता हूं कि आपको इससे आवश्यक जानकारी प्राप्त हुई होगी। ऐसे और रोचक विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे article पढ़ते रहे।

The Author

Romi Sinha

I love to write on JoblooYou can Download Ganesha, Sai Ram, Lord Shiva & Other Indian God

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Jobloo.in © 2017
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.